शाहीन बाग़ फेम अविवाहित Safura Zargar के बच्चे की इतनी बड़ी बात मीडिया कैसे भूल गई !

आर्यन खान की जमानत हो चुकी है. भारतीय मीडिया ने आर्यन खान को लेकर पल पल का अपडेट जारी रखा. यहां तक की मीडिया सैफ अली खान और करीना के बेटे तैमुर को लेकर भी हर अपडेट देती रहती है. तमूर यदि छींक भी दे तो मीडिया के लोग माइक लेकर वहां दौड़ने लगते हैं. लेकिन मीडिया सफूरा जरगर के बेटे पर आखिर क्यूं मौन है ? यह एक बड़ा सवाल है. क्या एक वामपंथी अविवाहित स्त्री के गर्भ से जन्म लेने वाला बच्चा जिसको ये हिप्पोक्रेट्स संघी ‘नाजायज’ कहते हैं. उसके बच्चे को लाइमलाइट नहीं मिलना चाहिए. क्या एक वामपंथी गर्भवती इतनी कमजोर है कि वो अपने बच्चे एक असली पिता का नाम सार्वजनिक करने की मांग से डर जाय !

हमने तमाम फिल्मों में देखा है कि ऐसे बच्चे कॉलेज के फॉर्म में मां और बाप दोनों के कॉलम में केवल मां का ही नाम लिखते हैं. अब जब ये वाकया सच हो रहा है, तो फिर ये तथाकथित संघी हिप्पोक्रेट्स के आंत में मरोड़ क्यों उठ रहा है? किसी को अपने पिता का नाम पता होना अथवा न होना एक जनरल नॉलेज से ज्यादा कुछ नहीं होना चाहिए. आपको भी तो जवाहर लाल नेहरु के चचिया ससुर के बड़का बेटा का नाम नहीं पता. अपना – अपना जनरल नॉलेज है.

कौन है Safura Zargar

सफूरा 2020 में CAA प्रोटेस्ट के दौरान हुए दिल्ली दंगों की आरोपी है. दिल्ली की एक अदालत ने सफूरा को अपने बच्चे की देखभाल करने को दो महीने के लिए अपने मायके जाने की इजाजत दी थी. इन्होंने पिछले साल 12 अक्टूबर को एक बच्चे को जन्म दिया था.

बता दें कि पिछले वर्ष फरवरी में उत्तर पूर्वी दिल्ली में दंगे हुए थे. जिसमें 56 लोग मारे गये थे और सैकड़ों लोग घायल हो गये थे. साथ ही लाखों रुपए की संपति जला दी गई थी. इस मामले मे सफूरा जरगर (Safura Zargar) भी प्रमुख आरोपियों में से एक थी. अदालत ने सफूरा को जमानत देते हुए कहा था कि वे पुलिस को गूगल मैप के जरिए अपना लोकेशन भेजती रहें. साथ ही न्यायाधीश ने जरगर को हाईकोर्ट के द्वारा जमानत के समय दिए गये सभी निर्देशों का पालन करने को कहा था.

2 thoughts on “शाहीन बाग़ फेम अविवाहित Safura Zargar के बच्चे की इतनी बड़ी बात मीडिया कैसे भूल गई !

Leave a Reply

Your email address will not be published.