योगी 2.0: नई कैबिनेट में 52 मंत्री होंगे, केशव मौर्य संग बृजेश पाठक बनेंगे डिप्टी सीएम, 20 पुराने मंत्रियों को किया नदारद

मैं आदित्यनाथ योगी ईश्वर की शपथ लेता हूं… घड़ी में शाम के जैसे ही 4:00 बजेंगे और इसी के लाइन के साथ योगी सरकार 2.0 का कार्यकाल शुरू हो जाएगा. लखनऊ का इकाना स्टेडियम पूरी तरह से सज कर तैयार है. इसी के साथ सबसे बड़ी खबर यह है कि सरकार पिछले कार्यकाल के दौरान समझ गई थी कि उनके ही कुछ मंत्रियों पर से जनता का भरोसा उठ चुका है लिहाजा इस नई सरकार में पिछली सरकार के 20 मंत्रियों की छुट्टी कर दी गई है. इस बार 52 विधायक मंत्री बनने जा रहे हैं. वहीँ केशव प्रसाद मौर्य तो डिप्टी सीएम होंगे, लेकिन दिनेश शर्मा की जगह इस बार बृजेश पाठक को डिप्टी सीएम बनाया जा रहा है. वहीँ सीएम आवास से उन विधायकों को भी फ़ोन गए हैं, जिन्हें मंत्री बनाया जाना है. सभी विधायक मुख्यमंत्री आवास पहुंच चुके हैं. सीएम योगी से उनकी मुलाकात हो रही है. अभी तक में जिनका नाम सामने आया है, उनमें केशव मौर्य, पूर्वा आईएस (IAS) ए. के. शर्मा, जितिन प्रसाद, स्वतंत्र देव सिंह, बलदेव सिंह औलख, बेबी रानी मौर्य समेत 48 विधायक सीएम आवास पहुंच चुके हैं.

इनका मंत्री बनना तय

केशव मौर्य, कुंवर ब्रजेश सिंह, जेपीएस राठौर, जयवीर सिंह, बेबी रानी मौर्य, अनूप वाल्मीकि, असीम अरुण, अनिल राजभर, संजीव गौड़, संदीप सिंह, जितिन प्रसाद, नितिन अग्रवाल, स्वतंत्र देव, आशीष पटेल, बलदेव औलख, प्रमिला पांडेय, संजय निषाद, सतीश शर्मा, विजय लक्ष्मी गौतम, राकेश राठौर, धर्मवीर प्रजापति, लक्ष्मी नारायण चौधरी, बृजेश पाठक, संजय गंगवार, प्रतिभा शुक्ला, राकेश राठौर, भूपेंद्र चौधरी, अनूप प्रधान, दिनेश खटीक, गिरीश यादव, कपिल देव अग्रवाल, सुरेश राही, नंद गोपाल गुप्ता नंदी, राम नरेश अग्निहोत्री, धर्मवीर प्रजापति, पूरन प्रकाश, अंजूला माहौर, सरिता भदौरिया, रजनी तिवारी, केपी मलिक, अनिल शुक्ला वारसी, सिद्धार्थनाथ सिंह, सलिल बिश्नोई, केशव प्रसाद मौर्य, स्वतंत्र देव सिंह, दया शंकर सिंह, श्रीकांत शर्मा, नरेंद्र कश्यप योगेंद्र उपाध्याय.

केशव मौर्य और बृजेश पाठक बनेंगे उप मुख्यमंत्री

उत्तर प्रदेश के 38 वें मुख्यमंत्री होंगे योगी आदित्यनाथ

योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के 38 में मुख्यमंत्री होंगे. 9 साल बाद योगी पहले ऐसे मुख्यमंत्री बनने वाले हैं, जो विधानसभा चुनाव लड़कर मुख्यमंत्री बन रहे हैं. इससे पहले 2003 में मुलायम सिंह यादव विधायक का चुनाव लड़ कर मुख्यमंत्री बने थे. पिछली बार योगी एमएलसी बने और फिर उसके बाद सीएम बने थे. गुरुवार की शाम विधायक दल की बैठक में पर्यवेक्षक अमित शाह की मौजूदगी में योगी आदित्यनाथ को विधायक दल का नेता चुना गया.

मठों के महंत समेत कई उद्योगपतियों को किया गया है आमंत्रित

शपथ ग्रहण कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, 12 भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री भी शामिल होंगे. योग गुरु बाबा रामदेव विभिन्न मठों व मंदिरों के महंत एवं उद्योगपतियों को भी आमंत्रित किया गया है. सोनिया गांधी, प्रियंका – राहुल, मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव और मायावती को भी न्योता भेजा गया है. सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने शपथग्रहण में शामिल होने से पहले ही इनकार कर दिया है.

बता दें कि इस बार विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 403 में से 273 सीटों पर जीत हासिल कर प्रचंड बहुमत पाया है. इसके साथ ही भाजपा ने 37 साल का रिकॉर्ड भी तोड़ा है. लगातार दूसरी बार किसी दल की पूर्ण बहुमत की सरकार बनी है. इससे पहले 1980 के बाद 1985 की विधानसभा में कांग्रेस ने जोरदार वापसी की थी. इसके बाद 37 साल हो गए लेकिन कोई भी पार्टी दोबारा सरकार नहीं बना सकी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.