पति और ससुराल वालों से प्रताड़ित महिला न्याय न मिलने से दुखी, CM योगी से लगाई गुहार

वाराणसी. चित्तईपुर थाना अंतर्गत नारायनपुर निवासिनी एक महिला ने अपने पति व सुसराल वालों पर उसे प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है. महिला का कहना है कि इसे लेकर उसने अपर पुलिस आयुक्त सुभाष चन्द्र दुबे को प्रार्थना पत्र भी दिया था. जिसपर उन्होंने तत्काल एफआईआर पंजीकृत करने का आदेश भी दिया था. लेकिन चित्तईपुर एसओ ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की. साथ ही महिला ने मुख्यमंत्री से भी न्याय की गुहार लगाई है.

इसी क्रम में पीड़ित महिला और उसके वकील ने रविवार को डाफी बाईपास स्थित एक होटल में पत्रकारों से बातचीत की. इस दौरान पीड़ित महिला ने अपने पति, जेठ व ससुराल पक्ष के अन्य सदस्यों द्वारा प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है.

पीडित महिला ने पति पर आरोप लगाते हुए कहा कि उसके पति ने बिना उसकी मर्जी के बिना ही दूसरी शादी कर ली, और उसके साथ मारपीट भी करते है. महिला का कहना है कि उसे कोई संतान नहीं है जिससे पति हमेशा उसे प्रताड़िता करता है, ना ही उसके जीवन यापन का खर्च देता है.

वहीं पीड़ित महिला के वकील दीपक सिंह राजवीर ने बताया कि उनकी क्लाइंट की कोई संतान ना होने के कारण उसके पति ने दूसरी शादी कर ली और दूसरी पत्नी को लेकर गुजरात रहता है. वकील का आरोप है कि ससुराल वाले भी महिला को तरह-तरह से प्रताड़ित कर रहे है.इससे तंग आकर महिला ने विगत दो मई को अपर पुलिस आयुक्त (सुभाष चन्द्र दुबे जी) को प्रार्थना पत्र दी थी. जिसपर उन्होंने हस्ताक्षर करते हुए मुकदमा लिखे जाने की बात कही.

उन्होंने आरोप लगाते हुए आगे कहा कि वे प्रार्थना पत्र लेकर एफआईआर दर्ज कराने चितईपुर एसओ के पास गए, जिन्होंने मुकदमा लिखने से साफ इनकार कर दिया. उन्होंने आगे कहा कि हमने इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री को भी मेल और ट्वीट किया कर न्याय की गुहार लगाई है.