Varanasi: नमो घाट पर दो दिन तक प्रतिबंधित रहेगी आवाजाही, यह है कारण

इस बार विश्व योग दिवस 21 जून को नमो घाट पर भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है. इसी के मद्देनज़र 20 जून सुबह 10 बजे से लेकर 21 जून सुबह 10 बजे तक आम जनता को घाट पर नहीं जाने दिया जाएगा. वाराणसी नगर निगम ने 21 जून को नमो घाट पर होने वाले योग दिवस कार्यक्रम को लेकर दो दिनों के लिए आवाजाही प्रतिबंधित कर दी है.

योग दिवस पर बड़ी संख्या में लोग होंगे एकत्र

नगर आयुक्त प्रणय सिंह के अनुसार नमो घाट राजघाट पर 20 जून की सुबह 10 बजे से लेकर 21 जून की सुबह 10 बजे तक आम जनता की आवाजाही प्रतिबंधित रहेगी. इस दौरान वहां पर साफ सफाई और योग की तैयारी कराई जाएगी. दरअसल, योग दिवस का मुख्य कार्यक्रम इस बार नमो घाट पर किया जा रहा है, ऐसे में माना जा रहा है कि बड़ी संख्या में यहां लोग एकत्र होंगे.

अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन सुविधाओं के साथ विकसित हो रहा खिडकिया घाट

बता दें कि खिडकिया घाट जिसे नमो घाट के रूप में भी जाना जा रहा है, यह काशी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का दूसरा ड्रीम प्रोजेक्ट है. यहां पहले से ही नमस्ते आकार के 25-25 फीट के तीन स्कल्पचर स्थापित हैं जो आकर्षण का केंद्र हैं और यहां आने वाले पर्यटकों के बीच सबसे पसंदीदा हैं. खिड़किया घाट पर आने वाले दिनों में देश-विदेश के पर्यटकों के लिए तमाम सुविधाएं उपलब्ध होंगी. खिड़किया घाट के गुमनाम पड़ी इस विरासत को अब देश एवं दुनिया देख पाएगी. इस उद्देश्य के साथ इस विशेष क्षेत्र को अंतरराष्ट्रीय पर्यटन सुविधाओं के आधार पर विकसित किया जा रहा है.

ये होंगी सुविधाएँ

इसके लिए यहाँ पर फेरी सर्विसेज की सुविधा, हेलीपोर्ट, क्रूज़, ऑडिटोरियम, CNG स्टेशन, पार्किंग स्टैंड, Children Park, ओपन एयर थिएटर इत्यादि बनेंगे जोकी इस घाट को नवीन जीवन प्रदान करेंगे. प्रोजेक्ट की अधिक जानकारी के लिए बता दें की वाराणसी की स्मार्ट सिटी योजना के अंतर्गत लगभग 46 करोड़ रुपये की लागत से 11.5 एकड़ क्षेत्र में 600 मीटर पक्काघाट का निर्माण कर इस खिडकिया घाट के मॉडल घाट का निर्माण कार्य भारत सरकार की नवरत्न कंपनियों में से एक नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कारपोरेशन (NBCC) कर रही है.