Nilgiri Infracity: सीएमडी व एमडी समेत तीन की जमानत अर्जी खारिज

वाराणसी.गोल्ड, टूर पैकेजेस और प्लॉट दिलाने के नाम पर जालसाजी लाखों रुपए की ठगी करने के मामले में अदालत ने रियल इस्टेट कंपनी नीलगिरी ग्रुप ऑफ कंपनीज के चीफ मैनेजिंग डायरेक्टर (CMD) विकास सिंह,मैनेजिंग डायरेक्टर (MD), पत्नी ऋतु सिंह और मैनेजर प्रदीप यादव की जमानत अर्जी को खारिज कर दी.तीनों आरोपितों की जमानत अर्जी का विरोध एडीजीसी विनय कुमार सिंह व वादी के अधिवक्ता तनवीर अहमद सिद्दीकी ने किया.

अभियोजन पक्ष के अनुसार चित्रलेखा एग्रो इण्डस्टट्रीज, प्रालि 693 एसपी चिरईगांव, थाना चौबेपुर निवासिनी ने मलदहिया स्थित नीलगिरी ग्रुप ऑफ कंपनीज के सीएमडी विकास सिंह व एमडी रीतू सिंह और कर्मचारी प्रदीप यादव के खिलाफ चेतगंज थाना में मुकदमा दर्ज कराया था.

आरोप था कि कंपनी के इन पदाधिकारियों ने टाउनशिप डेवलपमेंट के नाम पर प्लाट देनें के लिए उससे 50,47,510 रुपये की किश्तों में प्लाट्स की बुकिंग के लिए एडवांस में दिये थे. इस संबंध में एक लिखा-पढ़ी भी विकास सिंह, ऋतु सिंह ने करवाया, जिससे विकास सिंह व रीतू सिंह की तरफ से प्रदीप यादव ने एग्रीमेंट पर हस्ताक्षर किया.

काफी दिन बीत जाने के बाद भी हमें आरोपितों द्वारा प्लाट्स नहीं दिये गये और न ही टाउनशिप डेवलप किये.बाद में पता चला विकास सिंह उसकी पत्नि ऋतु सिंह व प्रदीप यादव एक गिरोह बनाकर अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर लोगों के साथ धोखाधड़ी व चिटिंग करते हुए लोगों से जमीन दिखाकर फर्जी व कूटरचित दस्तावेज तैयार कर धन उगाही कर रहे हैं. जब मैने सीएमडी से मिलकर अपनी रकम की मांग की तो उन्होंने रुपए देने से मना कर दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.