न्यायालय की टीम को नहीं मिला ज्ञानवापी मस्जिद के अन्दर प्रवेश, वीडियोग्राफी सर्वे रुका, अब 9 मई को सुनवाई

वाराणसी में ज्ञानवापी-श्रृंगार गौरी परिसर में ज्ञानवापी मस्जिद के बाहर कुछ इलाकों की वीडियोग्राफी और सर्वेक्षण शनिवार को रोक दी गई क्योंकि वकीलों की टीम को मस्जिद के अंदर प्रवेश नहीं करने दिया गया. इससे पहले आज वाराणसी की एक अदालत ने ज्ञानवापी मस्जिद के बाहर के क्षेत्रों की वीडियोग्राफी और सर्वेक्षण जारी रखने का आदेश दिया था. अदालत द्वारा नियुक्त एक अधिकारी और वकीलों की एक टीम द्वारा शुक्रवार को इलाके के पास निरीक्षण करने के बाद इलाके में भारी पुलिस बल तैनात किया गया था.

काशी विश्वनाथ मंदिर-ज्ञानवापी परिसर में मस्जिद से सटे श्रृंगार गौरी मंदिर में पूजा की अनुमति मांगने के लिए वाराणसी की एक अदालत में याचिका दायर होने के बाद शुक्रवार को यह सर्वेक्षण किया गया. मस्जिद व्यवस्था समिति के वकील अभय नाथ यादव ने अदालत द्वारा नियुक्त आयुक्त अजय कुमार मिश्रा की निष्पक्षता पर सवाल उठाया और उन्हें हटाने के लिए अदालत का रुख किया. कोर्ट ने शनिवार को ज्ञानवापी-श्रृंगार गौरी परिसर में वीडियोग्राफी और सर्वे फिर से शुरू करने का आदेश दिया. अजय कुमार मिश्रा को हटाने के मामले पर न्यायाधीश (सीनियर डिवीजन) ने कोर्ट कमिश्नर और वादी को 9 जून को अगली सुनवाई में लिखित में अपना पक्ष रखने को कहा है.