Varanasi: “50 हजार रुपए लो और ईसाई बनो” महादेव की नगरी में धर्म परिवर्तन का नया मामला, बाहर से दिख रहा सत्संग भवन, अंदर से चर्च

ईसाई मिशनरियों द्वारा जबरदस्ती अथवा लालच देकर हिन्दुओं के धर्मांतरण की खबरें अक्सर आती रहती हैं. देशभर में इन मिशनरियों का बोलबाला हो चला है. ताजा मामला वाराणसी ग्रामीण क्षेत्र का है. जहां चर्च संचालक ने पैसे का लालच देकर धर्म परिवर्तन के लिए उकसाया है. ‘हिन्दू जागरण मंच’ के सदस्यों ने चर्च मे पहुंच कर कार्यक्रम को रोकने का दावा किया है. इसी के साथ उन्होंने थाने में तहरीर दे कर आरोपितों पर कार्रवाई की माँग की है. आरोपित पॉस्टर को हिन्दू संगठनों ने पुलिस को सौंप दिया है. पुलिस ने मामले में जाँच कर के कार्रवाई का भरोसा दिया है. घटना रविवार (16 अक्टूबर, 2022) की है.

घटना वाराणसी देहात के थानाक्षेत्र फूलपुर की है. आरोप है कि यहाँ के बावतपुर इलाके में छोटेलाल जायसवाल नाम का व्यक्ति चर्च चलाता था. चर्च का नाम ‘सर्व इंडिया मिनिस्ट्री’ है. इस चर्च पर ‘सत्संग भवन’ लिखा हुआ है. बाबतपुर क्षेत्र में ही वाराणसी का एयरपोर्ट भी है. छोटेलाल स्थानीय बाबतपुर क्षेत्र का ही रहने वाला है. हिंदू संगठनों द्वारा थाने में दी गई शिकायत के मुताबिक, आरोपित चर्च संचालक ने हिन्दू धर्म के लोगों को धर्म परिवर्तन करने पर 50 हजार रुपए प्रति व्यक्ति का वादा किया. आरोप यह भी लगाया गया है कि छोटेलाल ने इसके लिए 2-2 हजार रुपए एडवांस में भी दिए थे.

हिन्दू संगठन द्वारा थाने में दिए गए एप्लीकेशन की कॉपी

जिन लोगों को धर्मान्तरण के लिए एडवांस पैसे दिए गए थे उनके नाम गौरव सिंह और वैभव सिंह हैं. ऑपइंडिया के पास शिकायत कॉपी मौजूद है. इस शिकायत कॉपी में आगे बताया गया है कि रविवार के दिन धर्मान्तरण की साजिश के तहत सभी को चर्च आने के लिए भी कहा गया था. इस घटना का एक वीडियो और है, जिसमें हिन्दू संगठन के लोग कार्यक्रम के बीच में पहुंच कर छोटेलाल को धर्मान्तरण रोकने के लिए कह रहे हैं. इसी वीडियो में कुछ महिलाएँ भी दिखाई दे रही हैं, जो हिन्दू संगठनों से बहस कर रही हैं.

इसी वीडियो में हिन्दू संगठन के सदस्य कार्यक्रम में प्रयोग मज़हबी साहित्य दिखा रहे हैं. मौके पर एक रजिस्टर भी दिख रहा है, जिसमें कई नाम आदि लिखे हुए हैं. चर्च में खाली कुर्सियाँ दिखाई दे रहीं हैं और कुछ लोगों की आपस में बहस भी हो रही है. इस वीडियो पर IG रेंज वाराणसी ने वाराणसी देहात पुलिस को कार्रवाई का निर्देश दिया. IG के जवाब में वाराणसी पुलिस ने थाना फूलपुर द्वारा जाँच और उसके बाद कार्रवाई करने का जवाब दिया है.

हिन्दू संगठनों का आरोप है कि जब वो चर्च में पहुँचे तब वहाँ धर्मान्तरण करवाया जा रहा था. ‘धर्म जागरण मंच’ के सदस्यों के मुताबिक, मौके से सदस्यता फार्म और स्टील से बना ईसाई क्रॉस मिला है. फादर छोटेलाल को हिन्दू संगठनों ने पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया है. घटना की जानकारी होने पर तमाम हिन्दू संगठनों और भाजपा नेताओं ने थाने पर पहुंच कर दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई की माँग की है.