बाबा विश्वनाथ जी अकेले नहीं थे, बल्कि उनका पूरा दरबार था: सुनील ओझा

वाराणसी.भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश सह प्रभारी सुनील ओझा ने मंगलवार की देर शाम रोहनिया स्थित क्षेत्रीय कार्यालय में महानगर पदाधिकारियों के साथ बैठक की.

ओझा ने 5 दिसंबर से शुरू हुई स्वच्छता अभियान के साथ बाबा विश्वनाथ धाम के पुनर्निर्माण कार्यक्रम को दृष्टिगत रखते हुए पदाधिकारियों को दायित्व बोध कराया. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में “न भूतो, न भविष्यति” कार्यक्रम हो रहा है. पहले 2000 स्क्वायर मीटर में मंदिर परिसर था, जो अब 48000 स्क्वायर मीटर में हो गया है. बाबा विश्वनाथ धाम के पुनर्निर्माण के दौरान 63 शिखर मंदिर देखने को मिला. इससे यह स्पष्ट प्रतीत होता है कि बाबा काशी विश्वनाथ अकेले नहीं थे, बल्कि उनका पूरा दरबार था और हम सभी को इसकी साक्षी बनने का सौभाग्य मिला है.

उन्होंने कहा कि हम लोगों के सामने अलौकिक कार्य हो रहा है। जिसकी चर्चा काशी ही नहीं बल्कि पूरे देश में हो रही है और आगामी 13 दिसंबर को पूरा विश्व इस कार्यक्रम से लाभान्वित होगा. श्री ओझा ने कहा कि आगामी 13 दिसंबर को महानगर के सभी 200 शक्ति केंद्रों मतदान केंद्रों के क्षेत्र में कार्यकर्ताओं द्वारा कम से कम एक शिवालय में जलाभिषेक का कार्यक्रम भी आयोजित किया जाएगा.

बैठक की अध्यक्षता महानगर अध्यक्ष विद्यासागर राय तथा संचालन महानगर महामंत्री नवीन कपूर ने किया.

इस दौरान मुख्य रूप से कार्यक्रम संयोजक नागेंद्र रघुवंशी, सह संयोजक उपेंद्र प्रताप सिंह पप्पू, के साथ जगदीश त्रिपाठी, अशोक पटेल, राहुल सिंह, आलोक श्रीवास्तव, आत्मा विशेश्वर, साधना वेदांती, एडवोकेट अशोक कुमार, मधुकर चित्रांश, डॉ अनुपम गुप्ता, बृजेश चौरसिया, नीरज जायसवाल, किशन कनौजिया, किशोर कुमार सेठ, रचना अग्रवाल, डॉ वीरेंद्र सिंह, वैभव कपूर, डॉ राजेश त्रिवेदी, कुसुम पटेल, शोभनाथ मौर्य, धीरज गुप्ता, सभी मंडल अध्यक्ष सभी मोर्चों के अध्यक्ष आदि शामिल रहे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.