BHU: इफ्तार पार्टी को लेकर छात्रों में दिखा आक्रोश,VC आवास के बाहर बैठकर पढ़ा हनुमान चालीसा

वाराणसी. काशी हिंदू विश्वविद्यालय में बुधवार को हुए रोजा इफ्तार पार्टी के बाद गुरुवार को इसके विरोध में कुलपति आवास के सामने हनुमान चालीसा का पाठ करने बैठ गए. छात्रों ने कहा जब बीएचयू में रोजा इफ्तार हो सकता है तो हनुमान चालीसा का पाठ भी होगा.

बुधवार बीती शाम भी रोजा इफ्तार के खिलाफ नारेबाजी और इफ्तार पार्टी में वीसी के शामिल होने के विरोध में उनका पुतला फूंका गया था. छात्रों का आरोप है कि विश्वविद्यालय में नई परंपरा शुरू की जा रही है.

छात्रों ने कहा कि रोजा इफ्तार के बाद परिसर में जातिवाद और एंटिनेशनल स्लोगन लिखकर माहौल खराब करने की कोशिश की गई. छात्रों ने कहा हम बीएचयू को जेएनयू नहीं बनने देंगे.बीएचयू में ऐसा पहली बार हुआ कि रोजा इफ्तार रखा गया, इसके पहले कभी ऐसा नहीं हुआ.

हनुमान चालीसा पाठ शुरू करने के पूर्व कुलपति आवास के बाहर कुलपति के खिलाफ नारेबाजी की. कहा ” कुलपति तुम होश में आओ” , “मौलाना सुधीर चंद मुर्दाबाद” , “मौलाना सुधीर चांद होश में आओ” , बीएचयू का इस्लामीकरण नही सहेंगे , उसके पश्चात रघुपति राघव राजा राम वीसी को बुद्धि दे भगवान. बीएचयू विसी जामिया जाओ, बीएचयू वीसी एएमयू जाओ जैसे नारे के साथ छात्रों ने विरोध प्रदर्शन किया.

प्रदर्शन करने के दौरान शोध छात्र पतंजलि पाण्डेय ने कहा विश्वविद्यालय लगातार हिंदू विरोध का केंद्र बनता जा रहा है,हिंदू विरोधी गतविधिया लगातार बनता जा रहा हैं.इफ्तार पार्टी दी आज सुबह दीवारों पर लिखा गया कश्मीर बनाएंगे पूरे हिंदुस्तान को और हम ब्राह्मणों की कब्र खुदेंगे, इसी तरह के आपत्तिजनक बातें लिखी गई,इस पर कोई भी करवाई ना विश्विद्यालय प्रशासन ने किया नही जिला प्रशासन ने किया उसी के विरोध में हम यहां हनुमान चालीसा का पाठ कर रहे है.

शोध छात्र आशीर्वाद दुबे ने कहा बीएचयू में पहली बार इफ्तार पार्टी का आयोजन किया गया मौलाना सुरेश चंद्र की अगुवाई में ,इस तरह की चीज हो रही उसी के विरोध में हमने वीसी आवास के सामने आमंत्रित किया हनुमान चालीसा का पाठ हो रहा है, उन्होंने ने आने से अस्वीकार कर दिया. ना रेक्टर आया मैं कोई और आया, और पार्टी के लिए उनके पास समय है पर यहां हनुमान चालीसा पाठ करेंगे, उसी महिला महाविद्यालय में नवरात्र के दौरान जब बिना लहसुन प्याज का खाना चाहिया था तब वार्डन ने उसको माना किया. इफ्तार पार्टी हो सकती है ,इस तरह के चीज हो रही है ,तो लोग कहा जाएंगे.

विरोध प्रदर्शन करने वालो में वैभव तिवारी , अवनेंद्र राय , अरुण कुमार हिन्दू , प्रिंस मिश्र , रमन सिंह , रजनीश मिश्रा , सुबोध कांत , पल्लव , अवलंब दुबे , शशिकांत मिश्रा सहित सैकड़ों छात्र महजूद रहे.