सपा को वाराणसी में लगा बड़ा झटका,एमएलसी शतरुद्र प्रकाश भाजपा में शामिल

वाराणसी. उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2022 से पहले समाजवादी पार्टी को वाराणसी के साथ-साथ पूर्वांचल में पार्टी को बड़ा झटका लगा है. पूर्वांचल में सियासत के केंद्र बने बनारस में समाजवादी पार्टी का मजबूत जमीनी नेता पार्टी से चला गया. पूर्व परिवहन मंत्री और सपा एमएलसी शतरुद्र प्रकाश भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए हैं. शुक्रवार को लखनऊ स्थित पार्टी मुख्यालय पर शतरुद्र प्रकाश को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने सदस्यता दिलाई. इस मौके पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि शतरुद्र प्रकाश के आने से भाजपा मजबूत होगी. ज्वाइनिंग कमेटी के अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेई ने कहा कि समाजवादी आंदोलन राह से भटक गया है. देश के संघर्ष के प्रणेता महान समाजवादी लोकबंधु राजनारायण की 35वीं पुण्यतिथि पर पुराने सपाई शतरुद्र प्रकाश के भाजपा में शामिल होने पर लोग हैरान हैं.

छात्र राजनीति से निकले शतरुद्र प्रकाश ने राजनीति में अच्छा मुकाम हासिल किया और वाराणसी के विकास में काफी योगदान किया. 1970 से लेकर अलग-अलग आंदोलनों में इन्होंने बड़ी भूमिका निभायी. जनता के मुदृदे को लेकर मुखर रहने के लिए कई बार गिरफ्तारियां भी दी. प्रदेश सरकार में दो बार मंत्री भी रहे. इसके अलावा अलग-अलग बोर्ड के अध्यक्ष भी रहे. मुलायम सिंह यादव के बेहद करीबी लोगों में से शतरुद्र प्रकाश की गिनती होती है. 2012 में जब अखिलेश यादव मुख्यमंत्री बने तो शतरुद्र प्रकाश पार्टी में अलग-थलग पड़ गए. हालांकि वाराणसी समेत पूर्वांचल में उनकी सियासी मजबूती बनी रही हैं. सरकार पर लगातार हमलावर रहे.

राजनीतिक जानकारों और अनुभवी के मुताबिक, विधानसभा चुनाव के कुछ माह पहले शतरुद्र प्रकाश के सपा छोड़ने से पार्टी को तगड़ा झटका लगा है. हाल के दिनों में शतरुद्र प्रकाश तब चर्चा में आए जब उन्होंने बीते दिनों विधान परिषद में काशी विश्वनाथ धाम निर्माण के समर्थन में प्रस्ताव रखा था. वह काशी विश्वनाथ धाम को विश्व धरोहर मे शामिल करने की माग भी योगी सरकार से कर चुके हैं. शतरुद्र प्रकाश द्वारा काशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण और काशी के कायाकल्प के लिए पीएम मोदी की तारिफ करने के बाद ही उनके भाजपा ज्वाइन करने के कयास लगाए जाने लगा था.

वहीं सपा नेता इसपर बयान देने से बचते नजर आए. जानकारी के मुताबिक, भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने के बाद शतरुद्र प्रकाश ने कहा कि हमने शुरू से गैर कांग्रेस वाद की राजनीति की. आज राजनारायण जी की पुण्यतिथि पर मैं भाजपा में शामिल हो रहा हूं. पहले पूर्वांचल के जिलों की पहचान माफिया से होती थी लेकिन आज ऐसा नहीं है. इसके लिए पीएम मोदी और सीएम योगी को बधाई. उत्तर प्रदेश राज्य सरकार द्वारा काशी विश्वनाथ विशिष्ट क्षेत्र विकास परिषद के तहत वाराणसी में करीब 800 करोड़ रुपये की लागत से गंगा तट पर नवनिर्मित 5,27,760 वर्ग फीट पर विश्वनाथ धाम का निर्माण व लोकार्पण पीएम मोदी ने किया. यह अद्भुत कार्य कई शताब्दी की पीढ़ियों तक स्मरण किया जाएगा.

सपा एमएलसी के भाजपा की सदस्यता लेने के बाद सोशल मीडिया पर भी भाजपा की नीतियों की चर्चा होने लगी है. जहां भाजपा नेता इसे पीएम मोदी की नीतियों की जीत बता रहे हैं वहीं सपा नेता इसपर बयान देने से बचते नजर आए.जानकारी के मुताबिक, भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने के बाद शतरुद्र प्रकाश ने कहा कि हमने शुरू से गैर कांग्रेस वाद की राजनीति की. आज राजनारायण जी की पुण्यतिथि पर मैं भाजपा में शामिल हो रहा हूं।पहले पूर्वांचल के जिलों की पहचान माफिया से होती थी लेकिन आज ऐसा नहीं है. इसके लिए पीएम मोदी और सीएम योगी को बधाई. उत्तर प्रदेश राज्य सरकार द्वारा काशी विश्वनाथ विशिष्ट क्षेत्र विकास परिषद के तहत वाराणसी में करीब 800 करोड़ रुपये की लागत से गंगा तट पर नवनिर्मित 5,27,760 वर्ग फीट पर विश्वनाथ धाम का निर्माण व लोकार्पण पीएम मोदी ने किया. यह अद्भुत कार्य कई शताब्दी की पीढ़ियों तक स्मरण किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.