लगातार चौदह वर्षों से घरों में राम नाम की धुन जगा रहा ‘श्री मानस मण्डल चौखम्भा’: परशुराम उपाध्याय

श्री हनुमान जी बल व बुद्धि के देवता हैं. हनुमान जयंती के अवसर पर देश भर में कई जगहों पर प्रभात भेरी व सुंदरकाण्ड के पाठ का आयोजन किया गया. ऐसे में  वाराणसी के बुलानाला स्थित एक धर्मशाला में चैत्र पूर्णिमा के शुभ अवसर पर श्रीमानस मंडल चौखंभा का चतुर्दश वार्षिकोत्सव शनिवार को मनाया गया. जिसमें प्रभात फेरी के साथ ही सुन्दरकाण्ड के पाठ का आयोजन किया गया. साथ ही अलौकिक झांकियों व भजन की अविरल धाराओं का आयोजन किया गया.

श्री मानस मण्डल चौखम्भा के ओर से निकाली गई प्रभात फेरी का एक दृश्य

मौका हो हनुमान जयंती का, और पवनपुत्र के भक्तों में उमंग ना हो ! यह कदापि संभव नहीं. इसी क्रम में पूरे जोश, उमंग और हर्षोल्लास के साथ शनिवार की सुबह श्री श्री 1008 बाबा तैलंग स्वामी पंचगंगा घाट से शोभायात्रा प्रारंभ हुई. जो कि गुर्जर छात्र समिति बुलानाला जाकर समाप्त हुई. शाम होते ही गणेश वंदना, गुरु वंदना रामधुन के पश्चात सुंदरकांड का पाठ प्रारंभ हुआ. जिसके अंतर्गत श्री गणेश जी, श्री हनुमान जी, श्री शंकर जी, मां दुर्गा, श्री कृष्ण जी, श्री श्याम जी एवं बाबा तैलंग स्वामी का श्रृंगार अनेक प्रकार के फूलों से किया गया.

संस्था के अध्यक्ष परशुराम उपाध्याय के ओर से गणेश वंदना एवं सौरभ उपाध्याय के के ओर से रामधुन की प्रस्तुति की गई. संस्था के संरक्षक रमेश चौरसिया द्वारा ज्योति प्रज्ज्वलन का कार्यक्रम प्रारंभ हुआ. उसके उपरांत रात्रि पर्यंत अलौकिक झांकियां एवं भजन की अविरल धारा बहती रही. जिसमें अनेक कलाकारों ने बाबा के दरबार में अपनी हाजिरी लगाई. इस दौरान परशुराम उपाध्याय, अजय अग्रवाल, सौरभ उपाध्याय, निलेश अग्रवाल, अनुराग अग्रवाल, विनोद सेठ समेत हजारों की संख्या में भक्तों की उपस्थिति रही. कार्यक्रम में देर रात तक भजन – कीर्तन का दौर चला.

संस्था के अध्यक्ष परशुराम उपाध्याय ने द फ्रंट फेस इंडिया से बातचीत में बताया कि उनकी संस्था लगातार 14 वर्षों से धर्म के लिए कार्य कर रही है. श्री मानस मण्डल चौखम्भा प्रत्येक शनिवार को अपने किसी एक सदस्य के घर पर सुंदरकांड का पाठ कराता है. जिसमें किसी भी सदस्य से किसी भी प्रकार का कोई शुल्क नहीं लिया जाता. हमारी संस्था लगातार 14 वर्षों से राम नाम की ज्योत जला रही है.