प्रसपा के प्रदेश महासचिव सुधीर सिंह ने थामा भाजपा का दामन, समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुचाएंगे सरकार की योजनाएं

लखनऊ. विधानसभा चुनाव के पहले हर पार्टी के नेता एक पार्टी छोड़ कर दूसरे पार्टी में शामिल होते नजर आ रहे हैं. इसी बीच गुरुवार को तमाम दलों के प्रमुख नेताओं ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की. इनमें सपा, प्रसपा, बसपा समेत अन्य सामाजिक व व्यापारी संगठनों के नेता शामिल हैं. इन नेताओं ने भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व ज्वाइनिंग कमेटी के अध्यक्ष डा. लक्ष्मीकान्त बाजपेई व प्रदेश उपाध्यक्ष दया शंकर सिंह की उपस्थिति में भाजपा की सदस्यता ग्रहण की.

भाजपा के प्रदेश मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में माफिया विरोधी मंच के अध्यक्ष व मुख्तार अंसारी की सदस्यता की रद्द करने के संबंध में विधानसभा अध्यक्ष के यहां याचिका दायर करने वाले वाराणसी के सुधीर सिंह ने अपने दर्जनों समर्थकों के साथ भाजपा की सदस्यता ग्रहण ली. सुधीर सिंह अभी तक प्रसपा के प्रदेश प्रवक्ता थे. वह समाजवादी पार्टी में करीब पिछले 25 वर्षों से विभिन्न पदों पर रह चुके हैं.

इनके अलावा 2017 में बसपा से संत कबीर नगर से बसपा प्रत्याशी रह चुके नील मणि त्रिपाठी बरेली कैंट से 2017 में बसपा प्रत्याशी रहे राजेन्द्र गुप्ता, 2012 में वाराणसी में कांग्रेस प्रत्याशी रहे डा. तेग बहादुर सिंह, मिशेज इंडिया टूरिज्म क्वीन अवार्ड जीतने वाली जौनपुर की सुचिता तिवारी, आगरा से अध्यक्ष वैश्य समाज अन्तराष्ट्रीय अग्रवाल समिति के अध्यक्ष अन्तुल कुमार सिंघल, सपा प्रबुद्ध प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव सुनील शर्मा ने भी भाजपा की सदस्यता ग्रहण की.

भाजपा परिवार में शामिल होने वाले सभी नये सदस्यों का अभिनंदन करते हुए डा. लक्ष्मीकांत बाजपेयी ने कहा कि सबका साथ-सबका विकास व सबका विश्वास के ध्येय को लेकर बीजेपी आगे बढ़ रही है. समाज के अंतिम व्यक्ति के कल्याण के संकल्प से प्रेरित होकर सभी नये सदस्य भाजपा परिवार में शामिल हुए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.