13 दिसम्बर को पीएम मोदी करेंगे श्री काशी विश्वनाथ कॉरीडोर का उद्घाटन, देखें Exclusive तस्वीरें

Highlights

•	उद्घाटन समारोह में 12 ज्योतिर्लिंग व 51 सिद्धपीठों के पुजारी होंगे मौजूद
•	8 मार्च 2019 को कॉरिडोर की आधारशिला रखी गई थी
•	700 करोड़ की काशी विश्वनाथ कॉरिडोर परियोजना होगी अत्याधुनिक सुरक्षा व्यवस्था से लैस

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13 दिसंबर को अपने ड्रीम प्रोजेक्ट काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे. उद्घाटन समारोह देश भर के संतों की मौजूदगी में होगा. समारोह के दौरान 12 ज्योतिर्लिंगों और 51 सिद्धपीठों के पुजारी भी मौजूद रहेंगे. उद्घाटन से पहले, हमारी टीम ने काशी विश्वनाथ कॉरिडोर की कुछ विशेष तस्वीरें एक्सेस की हैं.

Also Read This: कनाडा से लायी गई मां अन्नपूर्णा की मूर्ति को काशी विश्वनाथ मंदिर में किया जाएगा स्थापित, 100 वर्ष पहले वाराणसी से हुई थी चोरी

कॉरीडोर की आधारशिला 8 मार्च, 2019 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा रखी गई थी. अत्यधिक संवेदनशील काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद को स्थापित करने वाली 700 करोड़ रुपये की लागत वाली काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर परियोजना अत्याधुनिक सुरक्षा व्यवस्था से लैस होगी. इस बीच, काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद सहित साइट के हर नुक्कड़ पर निगरानी के लिए विशाल सीसीटीवी नेटवर्क की स्थापना भी प्रगति पर है. मंदिर की सुरक्षा के पुराने नियंत्रण कक्ष को तोड़े जाने के बाद मौजूदा नेटवर्क की निगरानी अस्थायी कार्यालय से की जा रही है.

Also Read This: पीएम मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट काशी विश्वनाथ धाम का दिखने लगा स्वरूप, देखें एक्सक्लूसिव तस्वीरें

काशी विश्वनाथ धाम के अंदर सुरक्षा नियंत्रण कक्ष का नया भवन जनवरी मध्य तक बनकर तैयार होने के साथ ही नियंत्रण व कमान वहीं से केंद्रीय रूप से की जाएगी. काशी विश्वनाथ-ज्ञानवापी परिसर को अत्यधिक संवेदनशील स्थल घोषित किया गया और 1992 के बाद इसकी सुरक्षा पर एक स्थायी समिति अस्तित्व में आई. 2005 और 2010 के बीच शहर में आतंकी हमले देखने के बाद, इस परिसर की संवेदनशीलता बढ़ गई और आतंकवादी हमले के मामले में चुनौतियों का सामना करने के लिए सुरक्षा योजनाओं को संशोधित किया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.