वाराणसी दौरे पर पीएम मोदी, 1774 करोड़ की दी सौगात, बच्चों ने किया मंत्रमुग्ध, देखें तस्वीरों में

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में बच्चों से कविता सुनी, शिक्षाविदों को समझाया देश की जरूरत, यूपी चुनाव में जीत के लिए जनता का जताया आभार

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा की जीत के बाद अपने संसदीय क्षेत्र के पहले दौरे में, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विभिन्न परियोजनाओं का लोकार्पण किया. गुरुवार को करीब साढ़े चार घंटे तक पीएम मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में थे. इस दौरान उन्होंने प्रदेश के विधानसभा चुनाव में भाजपा को जिताने के लिए जनता का आभार जताया.

अक्षय पात्र फाउंडेशन के लार्ज किचन का किया शुभारम्भ

वाराणसी में दोपहर 1 बजे के बाद पधारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1774 करोड़ के परियाजनाओं की काशीवासियों को सौगत दी तथा नयी शिक्षा नीति को सुदृढ़ बनाने के समागम का उद्घाटन भी किया. उन्होंने अक्षय पात्र फाउंडेशन के लार्ज किचन का भी शुभारम्भ किया. इसके अलावा उन्होंने परिषदीय विद्यालय के 20 बच्चों से मुलाकात भी की और उनके प्रदर्शन से मंत्रमुग्ध दिखाई पड़े. साथ ही अखिल भारतीय शिक्षा समागम में शिक्षाविदों को नयी शिक्षा नीति पर आगे के कार्यों के लिए मूल मन्त्र भी दिया.

तस्वीरों में देखें पीएम मोदी का काशी दौरा-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली से वाराणसी एयरपोर्ट पहुंचे, तो राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनका अंगवस्त्रम से स्वागत किया।
बाबतपुर एयरपोर्ट पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीएम का अंगवस्त्रम से स्वागत किया।
प्रधानमंत्री एयरपोर्ट से पुलिस लाइन ग्राउंड आए। वहां से सीधे एलटी कॉलेज परिसर पहुंचे और अक्षय पात्र किचन का उद्घाटन किया। इस किचन में बना भोजन सरकारी स्कूलों के बच्चों को बतौर मिड-डे-मील रोजाना उपलब्ध कराया जाएगा।
एयरपोर्ट से एलटी कॉलेज परिसर पहुंचे और अक्षय पात्र फाउंडेशन के लार्ज किचन का किया उद्घाटन
अक्षय पात्र किचन का भ्रमण करने बाद प्रधानमंत्री ने वहां मौजूद 20 बच्चों से बातचीत की। बच्चों ने उन्हें कविताएं और शिव तांडव स्तोत्र सुनाया। इसके अलावा बच्चों ने सरकारी स्कूलों की पढ़ाई और मिड-डे-मील के बारे में भी प्रधानमंत्री को बताया।
अक्षय पात्र फाउंडेशन के किचन में बच्चों से प्रधानमन्त्री ने सुना कविता और शिव तांडव, अक्षय पात्र किचन का भ्रमण करने बाद प्रधानमंत्री ने वहां मौजूद 20 बच्चों से बातचीत की। 
एलटी कॉलेज से प्रधानमंत्री रुद्राक्ष इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर पहुंचे। यहां उन्होंने नई शिक्षा नीति पर आधारित तीन दिवसीय कार्यक्रम अखिल भारतीय शिक्षा समागम का उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री का स्वागत केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने किया।
एलटी कालेज से वे सिगरा स्टेडियम पहुंचें जहां उन्होंने नई शिक्षा नीति पर आधारित तीन दिवसीय कार्यक्रम अखिल भारतीय शिक्षा समागम का उद्घाटन किया
रुद्राक्ष इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर में संबोधन के बाद प्रधानमंत्री रवाना हुए, तो उन्होंने वहां मौजूद शिक्षाविदों का हालचाल पूछा। उनसे कहा कि नई शिक्षा नीति का क्रियान्वयन ऐसे कराएं कि देश का युवा वर्ग उससे लाभान्वित हो।
रुद्राक्ष इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर में संबोधन के बाद प्रधानमंत्री रवाना हुए, तो उन्होंने वहां मौजूद शिक्षाविदों का हालचाल पूछा। उनसे कहा कि नई शिक्षा नीति का क्रियान्वयन ऐसे कराएं कि देश का युवा वर्ग उससे लाभान्वित हो।
रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर से प्रधानमंत्री डॉ. संपूर्णानंद स्पोर्ट्स स्टेडियम पहुंचे। यहां उन्होंने 1774 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करने के बाद 28 मिनट तक जनसभा को संबोधित किया।
रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर से प्रधानमंत्री डॉ. संपूर्णानंद स्पोर्ट्स स्टेडियम पहुंचे। यहां उन्होंने 1774 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करने के बाद 28 मिनट तक जनसभा को संबोधित किया।
डॉ. संपूर्णानंद स्पोर्ट्स स्टेडियम में प्रधानमंत्री मोदी ने काशी के प्रतिष्ठित खिलाड़ियों से भी मुलाकात की। स्पोर्ट्स स्टेडियम का 87.36 करोड़ रुपए से कायाकल्प किया जाएगा। यहां पूर्वांचल की युवा खेल प्रतिभाओं को विश्वस्तरीय सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी।
डॉ. संपूर्णानंद स्पोर्ट्स स्टेडियम में प्रधानमंत्री मोदी ने काशी के प्रतिष्ठित खिलाड़ियों से भी मुलाकात की। स्पोर्ट्स स्टेडियम का 87.36 करोड़ रुपए से कायाकल्प किया जाएगा। यहां पूर्वांचल की युवा खेल प्रतिभाओं को विश्वस्तरीय सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी।
प्रधानमंत्री ने स्पोर्ट्स स्टेडियम के मॉडल को देखा और अधिकारियों से उसके बारे में जानकारी ली। कहा कि स्टेडियम के कायाकल्प का काम निर्धारित समय में पूरा हो और गुणवत्ता का ध्यान जरूर रखा जाए। अब यहीं खेल कर हमारे बच्चे आगे बढ़ेंगे।
प्रधानमंत्री ने स्पोर्ट्स स्टेडियम के मॉडल को देखा और अधिकारियों से उसके बारे में जानकारी ली। कहा कि स्टेडियम के कायाकल्प का काम निर्धारित समय में पूरा हो और गुणवत्ता का ध्यान जरूर रखा जाए। अब यहीं खेल कर हमारे बच्चे आगे बढ़ेंगे।