वाराणसी विमानतल पर सुगम यात्रा हेतु सांकेतिक भाषा प्रशिक्षण शिविर का आयोजन

वाराणसी. वाराणसी विमानतल से यात्रा कर रहे सभी यात्रियों की सहायता और सुगमता हेतु वाराणसी विमानतल ने एक और कदम बढ़ाया. उत्तर प्रदेश में पहली बार विमानतल से यात्रा करने वाले मूक – बधीर और दिव्यांगजन यात्रियों को और सहज रूप से सहायता प्रदान करने के लिए विमानतल पर कार्यरत भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण, सीआईएसएफ, एयरलाइंस व अन्य एजेंसियों के कर्मचारियों को सांकेतिक भाषा के ज्ञान के लिए दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर (31.03.22 & 01.04.22) का आयोजन किया गया. इस प्रशिक्षण शिविर मे वाराणसी विमानतल के साथ प्रयागराज विमानतल के सहायता सेवी ने भी प्रशिक्षण लिया . जिला दिव्यांग सशक्तिकरण अधिकारी, श्री आनंद सिंह एवं अंकिता सिंह द्वारा यह प्रशिक्षण दिया जा रहा है. वाराणसी विमानतल एवं उत्तर प्रदेश शासन के जिला दिव्यांग सशक्तिकरण विभाग के संयुक्त तत्वाधान में यह प्रशिक्षण आयोजित किया गया. इस प्रशिक्षण शिविर मे वाराणसी विमानतल से कुल 22 प्रशिक्षु एवं प्रयागराज विमानतल से कुल 2 प्रशिक्षु भाग ले रहे है . अंतेर्राष्ट्रीय विमानतल कुशीनगर के कार्मिक भी इस प्रशिक्षण शिविर मे भाग लेने हेतु उनकी इच्छा निदेशक वाराणसी को सूचित किया एवं कल के प्रशिक्षण शिविर मे कुशीनगर विमानतल के कार्मिक के शामिल होने की संभावना है .

प्रशिक्षण शिविर में मुख्य अतिथि डा. उत्तम ओझा जी एवम डा. चेलापिल्ला तुलसी दास जी रहे. प्रशिक्षण शिविर मे श्री अजय कुमार (वरिष्ठ समादेष्टा , सीआईएसएफ़ ) विशेष अतिथि रहे .

प्रशिक्षण शिविर का प्रारंभ निदेशक विमानपत्तन अर्यमा सान्याल, मुख्य अतिथियो एवं विशेष अतिथि द्वारा दीप प्रज्ज्वलित करके किया गया.  प्रशिक्षण शिविर को संबोधित करते हुए दिव्यांग बंधु डॉक्टर उत्तम ओझा जी ने कहा कि माननीय प्रधानमंत्री जी के संसदीय क्षेत्र के विमानतल के इस छोटी सी पहल से इस प्रशिक्षण शिविर के जरिये सभी सहायता सेवी द्वारा दी जाने वाली यह अत्यंत महत्वपूर्ण सुविधा साबित होगी , जो किसी भी दिव्यांग यात्री को विमानतल पर सुगम यात्रा हेतु अत्यंत सहायक होगा एवं माननीय प्रधानमंत्री जी के सपनों को साकार करेगा.

निदेशक विमानपत्तन वाराणसी ने सूचित किया कि विमानतल के कर्मचारियों की सांकेतिक भाषा की प्रशिक्षण शिविर कराने के संदर्भ में वाराणसी विमानतल, उत्तर प्रदेश के सभी विमानतलो में से संभवतः प्रथम है. उन्होने बताया कि सभी यात्रियो को बेहतर से बेहतर सुविधा देने के लिए वाराणसी विमानतल प्रतिबद्ध है .