उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने पं.दीनदयाल उपाध्याय पीठ द्वारा प्रकाशित 17 पुस्तकों का किया लोकार्पण

वाराणसी. काशी हिंदू विश्वविद्यालय के सामाजिक विज्ञान संकाय स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय पीठ के तत्वावधान में आज जम्मू राजभवन में पंडित दीनदयाल उपाध्याय पीठ द्वारा प्रकाशित कुल 17 पुस्तकों का जम्मू एवं कश्मीर चैप्टर के रूप में लोकार्पण महामहिम उपराज्यपाल श्री मनोज सिन्हा जी ने किया.ये किताबे हैं – पंडित दीनदयाल उपाध्याय का राष्ट्र गौरव के प्रति दृष्टिकोण , एकात्म मानववाद पर दत्तोपंत ठेंगड़ी ,सनातन हिंदू धर्म एंड एथिक्स, पण्डित मदन महान मालवीय कृतत्त्व एवं व्यक्तित्व , पंडित दीनदयाल उपाध्याय के आदर्श पुरुष माधव शदाशिव गोलवलकर का राजनीतिक चिंतन सहित 17 अन्य पुस्तकों का लोकार्पण हुआ.

कार्यक्रम का प्रारंभ पण्डित मदन मोहन मालवीय और पंडित दीनदयाल उपाध्याय के चित्र पर महामहिम द्वारा माल्यर्पण करके किया गया। पीठ के शोध छात्र शुभम मिश्र ने काशी हिंदू विश्वविद्यालय का कुलगीत राजभवन में प्रस्तुत किया.यह पहला अवसर है जब जम्मू के राजभवन में काशी हिन्दू विश्वविद्यालय का कुलगीत गूंजा। काशी हिंदू विश्वविद्यालय की डॉक्टर सुनीता सिंह ने महामहिम का पुष्पगुच्छ , स्मृतिचिन्ह एवं अंगवस्त्र प्रदान कर सम्मान किया. महामहिम जी नें पीठ प्रभारी प्रो० कौशल किशोर मिश्र जी को माता वैष्णो देवी की चुनरी एवं स्मारक सिक्के प्रदान कर सम्मानित किया. पं० दीनदयाल उपाध्याय पीठ के प्रभारी प्रो० कौशल किशोर मिश्र नें कोविड काल के दौरान इन पुस्तकों के प्रकाशन का संदर्भ प्रस्तुत किया .काशी हिंदू विश्वविद्यालय एवं पं० दीनदयाल उपाध्याय पीठ के विभिन्न कार्यो का उल्लेख किया.

कार्यक्रम में अपने उदबोधन में उपराज्यपाल ने कहा कि काशी हिंदू विश्वविद्यालय वैश्विक धरोहर है और उसमें यह पं० दीनदयाल उपाध्याय पीठ का कार्य स्तुत्य है. महामना और दीनदयाल उपाध्याय दोनों ने राष्ट्र के सनातन संस्कृति को सुरक्षित रखने के वैचारिक प्रयास किये.महामहिम ने कहा कि हमने यह निर्णय लिया है कि काशी हिंदू विश्वविद्यालय एवं जम्मू और कश्मीर के विश्वविद्यालयों के बीच एक समझौता हो जिसमें जम्मू और कश्मीर के छात्र एवं अध्यापक काशी हिंदू विश्वविद्यालय जाएं और काशी हिंदू विश्वविद्यालय के छात्र एवं अध्यापक जम्मू कश्मीर आएं. मैं यह प्रयास करूंगा कि जम्मू और कश्मीर के छात्र एवं छात्राओं को काशी हिंदू विश्वविद्यालय में शिक्षा ग्रहण करने का अवसर मिलें . महामहिम ने कहा कि पीठ के इस लोकार्पण कार्यक्रम से जम्मू और कश्मीर के लोग काशी से जुड़ेंगे एवं अध्ययन-अध्यापन का मौका मिलेगा.

इस कार्यक्रम में प्रो० कौशल किशोर मिश्र , डॉ सुनीता सिंह , डॉ योगेंद्र दीक्षित , पतंजलि पांडेय , शुभम मिश्र , आकाश सिंह , विकास राज उपस्थित थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.