पड़ाव: “जनता त्रस्त, बिजली विभाग मस्त” सरकार के आदेश को ठेंगा, प्रचण्ड गर्मी में बिजली कटौती जारी

एक ओर प्रदेश में भयंकर गर्मी से आम जनमानस जूझ रहा है। वहीं बिजली विभाग लोगों के घाव पर नमक छिड़कने का काम कर रहा है। मामला, वाराणसी के पड़ाव क्षेत्र का है। जहां भयंकर गर्मी पड़ने के साथ ही बिजली कटौती से लोग त्रस्त आ चुके हैं। बिजली विभाग का यह हमेशा का हाल हो गया है। बता दें कि वाराणसी के पड़ाव क्षेत्र के सुजाबाद गांव में पिछले 24 घण्टे के दौरान महज 2-3 घण्टे ही लोगों को बिजली के दर्शन हुए होंगे।

दरअसल, पड़ाव क्षेत्र में बिजली कटौती कोई नहीं बात नहीं। यहां के लोगों को अब इसकी आदत सी पड़ गई है। स्थानीय लोगों की मानें तो, बिजली कटौती के लिए सबसे बड़े दोषी विभाग में होने वाले घोटाले हैं। पावर सप्लाई के दौरान जहां के भी तार वगैरह खराब हो जाते हैं, वहां ये लोग टूटे और जोड़ वाले तार लगाकर काम चला देते हैं। जिसके वजह से समस्या कुछ देर के लिए तो सही हो जाती है लेकिन वह फिर हमेशा की समस्या बन जाती है।
वहीं बिजली विभाग के अधिकारियों की मानें तो, यहां लोड अधिक है और सप्लाई कम। साथ ही कुछ क्षेत्रों में लोग कटियामारी भी कर रहे हैं। जिसके वजह से उपकेंद्र पर लोड काफी ज्यादा पड़ रहा है।
लेकिन बिजली विभाग का यह बयान किसी को पच नहीं रहा है। क्योंकि उत्तरप्रदेश में योगी सरकार का दूसरा कार्यकाल चल रहा है। इन्होंने सरकार में आते ही सबसे पहले बिजली व्यवस्था को सुचारू किया था। साथ ही बिजली चोरी को काफी हद तक कम कराया था। अब इसके पांच साल बाद भी यदि बिजली की चोरी हो रही है, तो इसमें कमी सरासर विभाग की है।