काशी विश्वनाथ मंदिर के महंत का दावा- “ज्ञानवापी में इस जगह दबा है खजाना…”, हिन्दू धर्मग्रंथों में भी मिलता है वर्णन

ज्ञानवापी मस्जिद विवाद के बीच काशी विश्वनाथ मंदिर के महंत कुलपति तिवारी का  बड़ा दावा सामने आया है. महंत ने दावा किया है कि मस्जिद के पूरब वाले हिस्से में नीचे की ओर ऐश्वर्य मंडप मौजूद है जिसे लोग तहखाना कहते हैं. वहां पर खजाना भी रखा हुआ है. यह दावा महंत ने हिंदू धर्मग्रंथों के आधार पर किया है. महंत कुलपति तिवारी का कहना है कि मस्जिद के तहखाने यानी ऐश्वर्य मंडप की जांच होनी चाहिए. निर्णय सिंधु, स्कंद पुराण जैसे तमाम धर्मग्रंथों में इस बात के प्रमाण हैं कि ज्ञानवापी मस्जिद नहीं, बल्कि एक मंदिर हैं.

न्यायलय से मांगेंगे पूजा का अधिकार

वहीं, मस्जिद के वुजूखाने में कथित रूप से मिले शिवलिंग की पूजा करने की भी मांग उठने लगी है. काशी विश्वनाथ मंदिर के महंत का कहना है कि मस्जिद परिसर में प्रकट शिवलिंग की पूजा का अधिकार मांगने के लिए आज वह कोर्ट में याचिका दायर करने जाने वाले हैं. 

वीडियोग्राफर ने भी किया था यह दावा

इससे पहले मीडिया से हुई बातचीत के दौरान ज्ञानवापी मस्जिद और काशी विश्वनाथ मंदिर के सर्वे के दौरान वीडियोग्राफी करने वाले विभास दुबे ने कई दावे किए थे. उन्होंने कहा कि ज्ञानवापी मस्जिद की दीवार पर तराशा हुआ प्राचीन घंटा और फूलों की लड़ियां दिखाई दी थीं.

साथ ही वीडियोग्राफर का यह भी दावा था कि एक दीवार पर स्वास्तिक भी बना हुआ था. वीडियोग्राफर विभास दुबे ने बताया कि काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर में नंदी जिस ओर मुंह करके बैठे हैं, उसके सामने मौजूद मस्जिद की दीवारों पर उनको स्वास्तिक, फूलों की लड़ियां समेत कई कलाकृतियां दिखीं. फन काढ़े हुए विष्णु जी का नाग और श्रृंगार गौरी की दीवार पर गढ़े हुए दिखे. गौरतलब है कि ज्ञानवापी मस्जिद, प्रसिद्ध काशी विश्वनाथ मंदिर के करीब स्थित है.