NEET-UG धांधली में गिरफ्तार डॉ. अफरोज को शासन ने किया निलंबित

वाराणसी. NEET-UG प्रवेश परीक्षा धांधली में सरगना निलेश उर्फ पीके की निशानदेही पर पकड़े गए लखनऊ मे कार्यरत सरकारी डॉक्टर अफरोज अहमद को उत्तर प्रदेश शासन के स्वास्थ विभाग ने निलंबित कर दिया है. यह निलंबन पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश द्वारा ACS चिकित्सा को भेजी रिपोर्ट के आधार पर किया गया है. साथ ही उसके ऊपर शासन द्वारा धारा 7 की विभागीय कार्रवाई की भी संस्तुति की है.

बता दे, 12 सितंबर 2021 को Neet UG की आयोजित प्रवेश परीक्षा में,सारनाथ स्थित एक परीक्षा केंद्र पर परीक्षा आयोजित हो रही थी,उसी दौरान एक अभियार्थी की जगह दूसरी लड़की परीक्षा देते पाई गई थी. उसके बाद इस सॉल्वर गैंग के रैकेट को वाराणसी पुलिस ने तोड़ना शुरु कर दिया. जिसके बाद इस पूरे घटना को अंजाम देने वाला मास्टरमाइंड निलेश उर्फ पीके को बिहार के पटना से गिरफ्तार कर लिया गया था. जिसके बाद वाराणसी पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो उसने कई नाम लिया जिसने उसके साथ मिलकर सॉल्वर गैंग को परवाज़ दे रहे थे.

पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने बताया कि इसी क्रम में लखनऊ जनपद के दाउदनगर, मोहनलालगंज PHC दाउदनगर, में कार्यरत डॉ अफरोज अहमद का भी नाम पीके ने लिए था जिसे मुखबिर की सूचना पर गिरफ्तार करने में वाराणसी पुलिस ने सफलता प्राप्त की थी. सरकारी सेवा में होते हुए अभ्यर्थियों का भविष्य खराब करने वाले इस डॉक्टर के सम्बन्ध में ACS चिकित्सा को एक रिपोर्ट इसे निलंबित करने के लिए भेजी गयी थी.

सीपी ने बताया कि इस रिपोर्ट के जांच के बाद ACS चिकित्सा ने वाराणसी की जेल में बंद डॉक्टर अफरोज अहमद को शासन स्तर से निलंबित कर दिया है साथ ही उसपर धारा 7 के अंतर्गत विभागीय कार्रवाई की भी संस्तुति की है.