नहरों की सफाई कार्य युद्धस्तर पर अभियान चलाकर करे पूरा, खराब नलकूप को हर हाल में कराए ठीक- स्वतंत्र देव सिंह

वाराणसी. उत्तर प्रदेश के जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि पूर्वांचल के जिन-जिन क्षेत्रों एवं नदियों में बाढ़ आता है और उनकी परियोजनाएं स्वीकृत होकर उन पर कार्य शुरू हो गए हैं, उन्हें युद्ध स्तर पर अभियान चलाकर 15 जून तक पूर्ण कराना सुनिश्चित करें और जिन परियोजनाओं पर पूर्व से कार्य हो रहे हैं, उन्हें भी मई तक प्रत्येक दशा में पूर्ण कराएं.

2024 तक बुंदेलखंड से काशी तक शुद्ध पेयजल प्राथमिकता उत्तर प्रदेश के जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह रविवार को सर्किट हाउस सभागार में सिंचाई विभाग के अधिकारियों के साथ विभागीय कार्यों की प्रगति की मंडलीय समीक्षा बैठक कर रहे थे. उन्होंने कहा कि कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आकांक्षाओं के अनुरूप 2024 तक बुंदेलखंड से काशी तक गांव से लेकर समाज के अंतिम पंक्ति के गरीब व्यक्ति के घरों में नलों से शुद्ध पेयजल पहुंचाना सरकार की प्राथमिकता है.

खराब नलकूप हर हाल में कराए ठीक

उन्होंने सिंचाई विभाग के अभियंताओं को निर्देशित करते हुए कहा कि सभी नलकूप हर हाल में चालू हालत में होना चाहिए. वाराणसी मंडल के जनपदों में जो भी खराब नलकूप हो, उन्हें तत्काल दुरुस्त कराए जाने के लिए कार्ययोजना तैयार कर एक सप्ताह में उपलब्ध कराएं.

नहरों की सफाई कार्य युद्धस्तर पर अभियान चलाकर करे पूरा उन्होंने नहरों की सफाई कार्य युद्धस्तर पर अभियान चलाकर प्राथमिकता एवं पारदर्शिता के साथ सुनिश्चित कराए जाने का निर्देश देते हुए कहा कि नहरों के टेल तक पानी पहुंचना चाहिए. जिससे किसानों के हर खेत तक पानी पहुंच सके. इसमें किसी भी स्तर पर शिथिलता अथवा लापरवाही कतई नहीं होनी चाहिए.

गर्मी में न हो पेयजल की समस्या

गर्मी में पेयजल की समस्या कत्तई नहीं होनी चाहिए, इसके लिए अधिकारी व्यवस्था सुनिश्चित करें और जहां कहीं भी कोई समस्या हो तो उसका स्थायी समाधान कराएं.

बैठक में पूर्व मंत्री एवं विधायक डॉ नीलकंठ तिवारी, जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम मौर्या, विधायक डॉ अवधेश सिंह, विधायक सौरभ श्रीवास्तव, भाजपा जिला अध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा, महानगर अध्यक्ष विद्यासागर राय सहित सिंचाई विभाग के मंडलीय एवं जनपद स्तरीय अभियंता प्रमुख रूप से उपस्थित रहे.