MLC Election: वाराणसी स्थानीय प्राधिकरण में भाजपा को मिली हार, अन्नपूर्णा सिंह को मिली एकतरफा जीत

वाराणसी. स्थानीय प्राधिकारी एमएलसी चुनाव का परिणाम जिला निर्वाचन अधिकारी कौशल राज शर्मा ने घोषित कर दिया. वाराणसी सीट से निर्दल प्रत्याशी और पूर्व एमएलसी बृजेश सिंह की पत्नी अन्नपूर्णा सिंह ने 4234 मत पाकर चुनाव जीत लिया है. अन्नपूर्णा सिंह के चुनाव जीतते ही उनके समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गयी है.

जिला निर्वाचन अधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि वाराणसी में अंतिम चक्र की मतगणना के बाद समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार उमेश यादव को 345 वोट, भाजपा प्रत्याशी डॉ सुदामा पटेल को 170 और निर्दल प्रत्याशी अन्नपूर्णा सिंह को 4234 मत प्राप्त हुए हैं. इसके अलावा 127 मतपत्र निरस्त हुए हैं.

उन्होंने बताया कि निरस्त मतों के हटने के बाद कुल 4749 वैध मत हुए. इसमें जीतने के लिए आवश्यक कोटा = (4749/2) + 1 = 2375 था. ऐसे में कुल 4749 में से 4234 मत पाकर निर्दल प्रत्याशी अन्नपूर्णा सिंह स्थानीय प्राधिकारी एमएलसी पर पर निर्वाचित हुई हैं.

पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र में भाजपा मिली करारी मात

भाजपा के गढ़ और पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में पार्टी को करारी मात मिली है. वाराणसी-चंदौली-भदोही क्षेत्र की एमएलसी चुनाव में बीजेपी को हार का मुंह देखना पड़ा है. यहां माफिया बृजेश सिंह की पत्नी जो कि निर्दलीय उम्मीदवार थीं वह 2058 वोट पाकर जीत गई हैं. वहीं उमेश यादव (सपा) को 171, सुदामा पटेल (भाजपा) को 103 वोट मिले.

बृजेश सिंह के परिवार का है पिछले दो दशक से कब्जाआपको बता दें कि पिछले दो दशक से एमएलसी सीट पर माफिया बृजेश सिंह के परिवार का कब्जा है. पिछली बार 2016 के एमएलसी चुनावव में निर्दलीय बृजेश सिंह खुद मैदान में उतरे थे. जिन्हें बीजेपी ने वॉकओवर देते हुए अपना प्रत्याशी नहीं उतारा था. इससे पहले दो बार बृजेश सिंह के भाई बीजेपी के टिकट पर जीत चुके हैं तो एक बार उनकी पत्नी अन्नपूर्ण सिंह बीएसपी के टिकट पर एमएलसी रही हैं.