इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज हुई बीएचयू के छात्रों की पत्रिका “मृगतृष्णा”

काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं द्वारा कोरोना महामारी में लॉकडॉउन के समय शुरू हुई एक ऑनलाइन बहुभाषी मासिक पत्रिका ”मृगतृष्णा” का नाम अभी हाल ही में इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज हुआ है.

मृगतृष्णा पत्रिका के प्रधान संपादक काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में अध्ययनरत प्रिंस तिवाड़ी ने बताया कि कोरोना की पहली लहर में लॉकडाउन के वक्त जिस समय सम्पूर्ण विश्व कोरोना की महामारी से लड़ रहा था उस वक्त बीएचयू के कुछ छात्र-छात्राओं के समूह ने मिलकर 28 जुन 2020 को मृगतृष्णा नामक एक ऑनलाइन बहुभाषी मासिक पत्रिका का शुभारंभ किया था. धीरे धीरे इस पत्रिका ने पूरे विश्व में अपनी छाप छोड़ना प्रारंभ कर दिया। पत्रिका की टीम ने कई विशेषांक प्रकाशित किए जिसका विमोचन भी देश-विदेश की जानी मानी हस्तियों ने किया.

गौरतलब यह भी है कि इस पत्रिका को मोबाईल के माध्यम से इसकी पूरी टीम तैयार करती हैं. यह मोबाइल से चलने वाली पहली ऑनलाइन ई-पत्रिका है.इस पत्रिका के मार्गदर्शक मंडल में संयुक्त राष्ट्र संघ पर्यावरण कार्यक्रम के छट्ठे कार्यकारी निदेशक ऐरिक सॉल्हेम भी शामिल है.

पत्रिका के सम्पादक मंडल में अंशिका अग्रवाल,आँचल गुप्ता,प्रत्युष रौनक,वारीजा श्रीवास्तव,आकांक्षा गुप्ता,फ़ातिमा अन्सारी,चारु पाण्डेय,देवांशी बाग,अंकु कुमारी शर्मा,नम्रता ठाकुर,मुस्कान कुमारी,अतुल्य अंकित,कनिका कपूर,जैनब अंसारी,कस्तूरी अग्रहरी,हर्षिता सिंह,अणिमा अदिति,अंकित कुमार सिंह आदि शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.