TFFI के रुझानों के अनुसार PM के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 8 विधानसभा में से भाजपा के खाते में 4 सीट मिल सकती हैं

द फ्रंट फेस इंडिया के रूझानों के मुताबिक बीजेपी उत्तर प्रदेश और मणिपुर में पूर्ण बहुमत से सरकार बना सकती है, जबकि आम आदमी पार्टी पंजाब में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभर सकती है. वहीं उत्तराखंड और गोवा में कांग्रेस और भाजपा में कांटे की लड़ाई है.

लगभग एक महीने तक चला लोकतंत्र का उत्सव का सोमवार को आखिरी चरण के बाद समाप्त हो गया, और 10 मार्च को नतीजे आने वाले हैं. पिछले 10 फरवरी से चले इस चुनाव में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, मणिपुर और गोवा के साथ 5 राज्यों की कुल 690 सीटों पर चुनाव हुआ है और अब लोगों की नजर फाइनल नतीजों पर है. इस बीच सोमवार की अलग-अलग एजेंसियों ने अपने एग्जिट पोल जारी कर दिए हैं और इन पोल के जरिए ये बताने की कोशिश की है कि किस राज्य में कौन सी पार्टी सरकार बनाने जा रही है या वे कितनी सीटें जीत रहे हैं.

रूझानों की मानें तो भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश और मणिपुर में पूर्ण बहुमत से सरकार बना सकती है.

उत्तर प्रदेश में कुल मिलाकर 403 सीटें हैं. जहां इंडिया टूड़े-आजतक के सर्वे के मुताबिक 288 से 326 सीटें मिल सकती हैं, तो वहीं सपा को 71 से 101 सीटें मिल सकती हैं. जबकि बसपा को 3 से 9 मिल सकता हैं तो वहीं कांग्रेस को 1 से 3 सीट मिलती दिख रही है. इसी तरह सी-वोटर के मुताबिक भाजपा को 228 से 244 सीटें, सपा को 132 से 148 सीटें, बसपा को 13 से 21 सीटें और कांग्रेस 4 से 8 सीट मिल सकती है. वहीं चाणक्य टूडे के मुताबिक भाजपा को 294 सीटें, सपा को 105 सीटें, बसपा को 2 सीट और कांग्रेस को एक सीट मिल सकती है.

PM मोदी के संसदीय क्षेत्र में भी बीजेपी को 8 विधानसभा में से 4 सीट मिलते दिख रही हैं तो कही कड़ा मुकाबला दिख रहा है.

विभिन्न कंपनियों के सर्वे के अनुसार इस बार उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में पुनः भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनते दिख रही है, तो कही कही दिग्गज नेताओं की सीट फसी दिख रही हैं,ये बात महत्पूर्ण होगी की प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र मैंक्या माहुल बनाता दिख रहा हैं, क्योंकि वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में जहा भारतीय जनता पार्टी अपनी गठबंधन के साथी सहलूदेव भारतीय समाज पार्टी और अपना दल (एस) के साथ चुनाव मैदान मे उतरी थी ,तो उस समय ने जिले की आठों विधानसभाओं पर जीत दर्ज की थी जिसमे शहर की तीनों विधानसभा उत्तरी,दक्षिणी,कैंट के साथ साथ जिला की पिंडरा विधानसभा और रोहनिया विधानसभा से भाजपा ने जीत बनाई थी वही अजगरा विधानसभा सीट पर सुभासपा ने तो वही सेवापुरी मैं अपना दल (एस) ने जीत दर्ज की था.परंतु वर्ष 2022 में भाजपा के साथ सुभासपा नही बल्कि अपना दल (एस) और निषाद पार्टी साथ चुनाव लड़ी हैं ,ये बात अलग हैं की वाराणसी में निषाद पार्टी को एक भी सीट नहीं मिली वही अपना दल के खाते में सिर्फ एक सीट गई हैं वो रोहनिया विधानसभा है.

384 पिंडरा विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी अजय राय … दूसरे नंबर पर भाजपा से अवधेश सिंह हो सकते

385 अजगरा विधानसभा से प्रत्याशी त्रिभुवन राम दूसरे स्थान पर सुनील सोनकर सपा समर्थित प्रत्याशी हो सकते हैं

386 शिवपुर विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी अनिल राजभर प्रथम स्थान पर दूसरे स्थान पर सपा समर्थित सुभा सपा प्रत्याशी अरविंद राजभर हो सकते हैं

387 रोहनिया विधानसभा से सपा गठबंधन अभय पटेल दूसरे नंबर पर कांग्रेस राजेश्वर पटेल हो सकते हैं

388 वाराणसी उत्तरी विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी रविंद्र जायसवाल ,.दूसरे नंबर पर अशफाक अहमद डब्लू सपा

389 वाराणसी दक्षिणी विधनसभा से सपा प्रत्याशी किशन दीक्षित से भाजपा प्रत्याशी नीलकंठ तिवारी दूसरे नंबर पर हो सकते है .

390 वाराणसी कैण्ट विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी सौरभ श्रीवास्तव दूसरे पर राजेश मिश्रा कांग्रेस प्रत्याशी हो सकते हैं

391 सेवापुरी विधानसभा से सपा समर्थित प्रत्याशी सुरेंद्र पटेल प्रथम स्थान पर द्वितीय स्थान पर भाजपा के प्रत्याशी नीलरतन पटेल हो सकते हैं