CHS में लॉटरी और मेरिट आधारित प्रवेश का ABVP ने किया विरोध, केंद्रीय कार्यालय का घेराव कर की स्कूल प्रवेश परीक्षा कराने की मांग

वाराणसी. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद अपने स्थापना काल से ही छात्रहित एवं समाजहित के कार्यों के प्रति समर्पित रहा है.काशी हिन्दू विश्वविद्यालय से सम्बंधित सेंट्रल हिन्दू स्कूल में प्रवेश हेतु लॉटरी एवं मेरिट आधारित प्रवेश के निर्णय का अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद विरोध करती है.अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का स्पष्ट मत है कि लॉटरी एवं मेरिट आधारित प्रक्रिया प्रतिभावान विद्यार्थियों के अधिकारों का हनन करती है एवं विद्यार्थियों के समान अवसर के अधिकार के प्रतिकूल है.

इस सम्बंध में सोमवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद काशी हिन्दू विश्वविद्यालय इकाई द्वारा केंद्रीय कार्यालय का घेराव किया गया. इस दौरान केंद्रीय कार्यालय का चैनल गेट बंद कर प्रदर्शन किया गया. इस दौरान कुलसचिव के माध्यम से कुलपति को ज्ञापन सौंप कर लॉटरी एवं मेरिट आधारित प्रवेश का निर्णय वापस ले कर स्कूल प्रवेश परीक्षा (SET) कराने की मांग की गई.

विरोध प्रदर्शन के दौरान विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं द्वारा विश्वविद्यालय प्रशासन के विरोध में नारे लगाए गए.

प्रदर्शन के दौरान अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के इकाई अध्यक्ष अभय प्रताप सिंह ने कहा कि “वर्षों से सेंट्रल हिन्दू स्कूल में प्रवेश प्रक्रिया प्रवेश परीक्षा के माध्यम से होती थी पिछले दो वर्षों से कोरोना की परिस्थितियों के कारण यह लॉटरी एवं मेरिट आधारित प्रवेश हो रहा था. परन्तु इस वर्ष स्थिति सामान्य होने और पाबंदियों के हट जाने के बावजूद काशी हिन्दू विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा स्कूल में प्रवेश लॉटरी एवं मेरिट के माध्यम से कराने का निर्णय लिया गया है जो पूर्ण रूप से विद्यार्थियों की प्रतिभा के विरुद्ध है. ऐसे समय में जब राष्ट्रीय शिक्षा नीति के माध्यम से मेरिट आधारित प्रवेश के मकड़जाल से विद्यार्थियों को निकाला जा रहा है उस स्थिति में काशी हिन्दू विश्वविद्यालय प्रशासन विद्यार्थियों को पुनः मेरिट आधार की तरफ ढकेल रहा है. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद विश्वविद्यालय प्रशासन के इस निर्णय का विरोध करता है एवं माँग करता है कि सेंट्रल हिन्दू स्कूल में प्रवेश हेतु प्रवेश परीक्षा इसी सत्र से कराई जाए.

प्रदर्शन के दौरान परिषद के इकाई उपाध्यक्ष सत्य नारायण ने कहा कि ” विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा एक तरफ निर्णय ले कर हज़ारों विद्यार्थियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।बड़ी संख्या में ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थी परीक्षा की तैयारी करते हैं. मेरिट एवं लॉटरी आधारित प्रवेश प्रतिभावान विद्यार्थियों की प्रतिभा की हत्या के समान है।अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद विश्वविद्यालय प्रशासन के इस निर्णय का अंतिम दम तक विरोध करेगी.”

प्रदर्शन के दौरान प्रशांत राय,अतुल दूबे, सौरभ राय,पल्लव सुमन,भास्करादित्य,नवनीत दिग्विजय, हर्षित,कुमार विनायक,आलोक त्रिपाठी, सर्वेश,अंकित सोमवंशी,आदित्य,निशांत,शिवेंद्र पांडेय,आलोक शर्मा आदि बड़ी संख्या में विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता उपस्थित रहे.