बीजेपी को वोट देने वाली मुस्लिम महिला को ससुराल वालों ने पीटा, दी तीन तलाक की धमकी

बीजेपी को वोट देने से उत्तर प्रदेश के चुनाव में एक मुस्लिम महिला मुसीबत में पड़ गई है. उजमा नाम की महिला ने यूपी चुनावों में भाजपा को वोट दिया था जिस कारण उसे उसके ससुराल वालों ने बेरहमी से पीटा और उसका पति उसे तीन तलाक की धमकी भी दे रहा है. महिला को घर से निकाल दिया गया है. जब उसने कहा कि वह पुलिस में शिकायत दर्ज कराएगी तो उसे गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी भी दी गई.

शादी से पहले थे दोनों रिलेशनशिप में

बता दें कि ससुराल वालों ने कथित तौर पर उसे धमकी भी दी कि अगर वह पुलिस के पास गई तो वे उसके भाई को गोली मार देंगे. महिला ने राज्य प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है. उन्होंने केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की बहन फरहत नकवी से भी मुलाकात की और किसी पार्टी के लिए मतदान करने के लिए उन्हें जो कठिनाइयां झेलनी पड़ीं उसके बारे में बताया. उजमा ने पिछले साल एजाज नगर गोटियां इलाके के तैय्यब से शादी की थी. शादी करने से पहले वे दोनों रिलेशनशिप में भी थे.

उन्होंने मेरी ज़िन्दगी नर्क बना दी: महिला

उजमा ने मीडियाकर्मियों से बातचीत के दौरान कहा कि उसके चचेरे भाई ससुर और देवर को उनके राजनीतिक झुकाव की भनक लग गई. उजमा ने कहा, “जब उन्हें पता चला कि मैंने बीजेपी को वोट दिया है, तो उन्होंने मेरी जिंदगी नर्क बना दी.” उसने आगे कहा, “उन्होंने भाजपा सरकार को इस मामले में हस्तक्षेप करने की चुनौती दी और कहा कि तलाक लेने से कोई नहीं बचा सकता.” उजमा के पति ने इस मामले पर चुप्पी साध रखी है. उसके पिता दिहाड़ी मजदूर हैं. इस बीच उलेमा-ए-इस्लाम के राष्ट्रीय सचिव शाहबुद्दीन रिजवी ने विवाद पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए महिला पर उसके राजनीतिक झुकाव को लेकर हो रहे अत्याचार के खिलाफ आवाज उठाई.