“महाभारत के ज्योति पुंज” पुस्तक का हुआ लोकार्पण, अभिनेत्री अनुराधा कृष्ण रस्तोगी ने किया लोकार्पण

पीडीडीयू नगर/मुग़लसराय( चंदौली):आर्य समाज मंदिर के प्रधान आदरणीय अरुण कुमार आर्य द्वारा लिखित व राष्ट्रीय चेतना प्रकाशन द्वारा प्रकाशित पुस्तक “महाभारत के ज्योति पुंज” का लोकार्पण आर्य समाज मंदिर में मंगलवार की शाम हुआ।
मुख्य अतिथि फिल्म अभिनेत्री आदरणीया अनुराधा कृष्ण रस्तोगी जी ने कहा कि अरुण जी सामाजिक जीवन जीते हैं इसलिए समाज का चिंतन भी करते हैं । उनकी पुस्तक में भी वही चिंतन देखने को मिलता है।


अध्यक्षता कर रहे वरिष्ठ साहित्यकार श्रद्देय डॉ उमेश प्रसाद सिंह जी ने कहा कि आदिम चिंतन की चिरंतर परंपरा है महाभारत। इस परंपरा को पुनर्जीवित करने का काम अरुण कुमार आर्य ने अपने पुस्तक के माध्यम से किया है।
रेल विकास निगम लिमिटेड वाराणसी के अपर महाप्रबंधक वरिष्ठ साहित्यकार आदरणीय विजय कुमार मिश्र उर्फ बुद्धिहीन जी ने कहा कि अरुण कुमार आर्य जी की लेखनी में संवेदना विद्यमान है। यही संवेदना साहित्य की मूल है। इस से समाज को काफी लाभ मिलेगा।


पूर्व प्राचार्य डॉ अनिल यादव जी ने कहा कि अरुण जी की पुस्तक एक समूचा जीवन दर्शन है। महाभारत के कुछ पात्रों को आधार बनाकर समग्र समाज के लिए अरुण जी ने संदेश दिया है।
जगतपुर पीजी कालेज वाराणसी के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ शंभुनाथ शास्त्री जी ने कहा कि पद लिखने वालों की सच्ची कसौटी उनके गद्य लेखन में ही मिलता है। अरुण जी कवि भी हैं और गद्य भी लिखते है और दोनो में ही सिद्धस्त हैं।
वरिष्ठ साहित्यकार आदरणीय एल. उमाशंकर जी, आदरणीय दीनानाथ देवेश जी व आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी के भतीजे आदरणीय राजेश द्विवेदी जी ने भी विचार व्यक्त किए।
कार्यक्रम का संचालन प्रकाशक डॉ विनय कुमार वर्मा व धन्यवाद ज्ञापन लेखक अरुण कुमार आर्य ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.