सपा प्रत्याशी मनोज सिंह ‘डब्लू’ को सैयदराजा पुलिस ने रोका, हंगामा

ब्यूरो रिपोर्ट :श्याम सिंह यादव

खबर यूपी के चंदौली के सैयदराजा से है,  जहाँ सपा प्रत्याशी मनोज सिंह डब्लू और सैयदराजा पुलिस मतदान की पूर्व संध्या पर एक बार फिर आमने-सामने नजर आए। इस दौरान मनोज सिंह डब्लू ने सैयदराजा थाना प्रभारी द्वारा गुंडई कराने का आरोप लगाया। कहा कि अपने अपने समधियान में रिश्तेदारों के आग्रह पर उनके मिलने आए थे। आरोप लगाया कि सैयदराजा पुलिस सरकार व स्थानीय विधायक के दबाव में बिना वजह परेशान कर रहे हैं। सिधना में दारू-मुर्गा पकड़ा गया, लेकिन सूचना के बाद भी सैयदराजा पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। ऐसे में पुलिस के इकबाल पर सवाल बनता है। मनोज सिंह डब्लू के धरने पर बैठने की बात से पुलिस वालों के हाथ-पांव फूल गए और सूचना के बाद भारी संख्या में मनोज समर्थक पर वहां डंट गए। मामला बिगड़ता देख मौके पर मौजूद सैयदराजा थाना प्रभारी को पीछे हटना पड़ा और अंततः पुलिस ने मनोज सिंह डब्लू को उनके वाहन से जाने दिया गया।

दरअसल मनोज कुमार सिंह डब्लू अपने समधी के घर जाने के लिए सैयदराजा आवास से निकले, तभी कुछ दूरी पर लोहिया नगर वार्ड के पास पुलिस ने उन्हें घेर लिया। सैयदराजा थाना प्रभारी ने मनोज सिंह डब्लू को प्रचार करने की बात कहकर कानून के उल्लंघन की बात कही। इस पर मनोज सिंह डब्लू आक्रोशित हो उठे। उनका आक्रोश शनिवार की रात पुलिस द्वारा सिधना में दारू-मुर्गा पकड़े जाने के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं किए जाने तथा स्थानीय विधायक के दबाव में अपने कर्तव्यों से हटकर किए जा रहे कृत्य से रहा। गुस्साए मनोज सिंह डब्लू ने मौके पर ही धरने पर बैठने की बात कही। प्रकरण से एसडीएम सदर व एसपी अंकुर अग्रवाल को अवगत कराया। कहा कि यह सरासर सैयदराजा पुलिस की गुंडई है। उनका आरोप था कि एक विधायक पांच वाहनों से घूम रहा है, जिसे पुलिस रोक नहीं रही है। वहीं मैं एकल वाहन से अपने रिश्तेदार से मिलने जा रहा हूं तो मुझे रोका जा रहा है। पुलिस कानून का पाठ मुझे पढ़ा रही है।

अंत में मामला तूल पकड़ा देख पीछे हट गयी और मनोज सिंह डब्लू को जाने दिया। लेकिन जाते-जाते मनोज सिंह डब्लू ने कहा कि वह रात को फिर निकलेंगे और एक-एक गांव व बूथ को चेक करेंगे। यदि कहीं दारू-मुर्गा की पार्टी होती मिली तो निर्वाचन की शुचिता को बनाए रखने के लिए आवश्यकता पड़ने पर लोकतंत्र विरोधी ताकतों के खिलाफ कानून हाथ में भी लेने का काम करेंगे। इसके लिए भले ही पुलिस मुझ पर मुकदमा कायम कर दे। कहा कि किसी भी कार्य को एक खरोच नहीं आने दी जाएगी। कार्यकर्ताओं के एक-एक जख्म का बदला लिया जाएगा। यदि किसी कार्यकर्ता पर पुलिस मुकदमा भी कायम करती है तो सपा सरकार आने पर उसे वापस कराने का जिम्मेदारी लेता हूं।