साहुपुरी के सेंट्रल पब्लिक स्कूल में बाल मेले का आयोजन, झांकियों व विज्ञान प्रदर्शनी ने जीता अतिथियों का दिल

कहते हैं कि हर इंसान अपने जीवन की अच्छी और बुरी बातें बचपन में ही सीखता है. बचपन से ही वह अपना लक्ष्य बनाता है कि उसे क्या करना है. हर बच्चे में उसकी एक अलग प्रतिभा होती है. जिसके कारण वह अपना लक्ष्य प्राप्त करने में सक्षम होता है. बच्चों की प्रतिभा केवल किताबी ज्ञान में ही नहीं, बल्कि अन्य एक्टिविटीज में भी दिखती है. बस उन्हें इसका मौका मिलना चाहिए.

मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण करते गंगा प्रहरी दर्शन निषाद

इसी क्रम में रविवार को साहुपुरी स्थित सेन्ट्रल पब्लिक स्कूल में बाल मेला का आयोजन किया गया. कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथि गंगा प्रहरी दर्शन निषाद ने मां सरस्वती के तैल चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्वलित कर किया. बाल मेले में बच्चों ने खानपान के साथ ही प्रेरक झांकियों की प्रस्तुति भी किए. इसमें ज्ञानवर्धक विज्ञान के मॉडलों की प्रदर्शनी भी लगाई गई थी.

स्टाल का निरीक्षण करते मुख्य अतिथिगण व स्कूल के डायरेक्टर

बाल मेले के मुख्य अतिथि दर्शन ने कहा कि पढ़ाई के साथ -साथ इस तरह के आयोजनों से बच्चों को ऊर्जा मिलती है. साथ ही बच्चों को सीखने को भी मिलता है कि उनके बड़े जीवन में किस तरह जो जीते हैं. ऐसे आयोजनों में बच्चों को बहुत कुछ सीखने को मिलता है.

ये भी पढ़ें : बबुरी के उतरौत में खुलेगा सेंट्रल पब्लिक स्कूल का पांचवां ब्रांच और हॉस्पिटल, गांवों को शिक्षा और स्वास्थ्य से जोड़ना होगा मुख्य उद्देश्य

भारत माता संग रानी लक्ष्मीबाई व रानी दुर्गावती

विशिष्ट अतिथि समाजसेवी व वरिष्ठ पत्रकार हरिओम आनंद जी ने कहा कि सेंट्रल पब्लिक स्कूल द्वारा अपने आप में एक अनोखा पहल वर्षों से किया जाता रहा है. जो बच्चे खानपान के स्टाल सजाए हुए थे वे लोगों को अपना सामान बेचने के लिए आकर्षित कर रहे थे.

राधा-कृष्ण की अलौकिक झांकी

अंत में सभी अतिथिगण विभिन्न स्टालों व झांकियों का अवलोकन किए. बाल मेले में लगाई गई झांकियों में भारत माता, महारानी लक्ष्मी बाई, भगत सिंह की फांसी का दृश्य, चंद्रशेखर आजाद, प्रदूषण, डेंगू, कोरोना से बचाव, दहेज प्रथा सहित विज्ञान की झांकियां देख आए. अतिथि व अभिवावक का मन मोह ले रहा था. इस अवसर पर अनुराग सिंह, सर्जीत सिंह, एच० आनन्द, रामकृष्ण यादव, सपना पाण्डेय, साहिद सिद्दिकी, अशोक मौर्या, आशीष श्रीवास्तव, सुशील त्रिपाठी, सीमा शर्मा, निकीता सिंह, गिरधारीलाल यादव, विनोद पटेल आदि उपस्थित रहे. अतिथियों का स्वागत सत्यम कुमार वर्मा ने किया.

ये भी पढ़ें : समाज सेवा में उत्कृष्ट कार्य हेतु विनय वर्मा को केरल के राज्यपाल ने किया सम्मानित

श्री राम दरबार की अलौकिक झांकी
मां दुर्गा के नव स्वरूपों की झांकी
क्रिसमस के दौरान सांता क्लॉज

Leave a Reply

Your email address will not be published.