Rajasthan: चुनाव जीतते ही जागा पाकिस्तान प्रेम, NSUI नेता ने लगाए पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे

कांग्रेस की रैलियों में पाकिस्तान जिंदाबाद अथवा भारत विरोधी के नारे लगना कोई नई बात नहीं है. पहले भी ऐसे कई वारदात हो चुके हैं. ताजा मामला राजस्थान का है. जहां चुनाव नतीजों के आते ही कांग्रेस समर्थित NSUI के कार्यकर्ताओं ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए हैं. चुनावी नतीजों के बाद पाली जिले से एक वीडियो सामने आया. वायरल वीडियो में कुछ छात्रों को ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाते हुए सुना जा सकता है. फिलहाल मामला पुलिस तक पहुँच चुका है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यह पूरा मामला पाली जिले के मारवाड़ जंक्शन कॉलेज का बताया जा रहा है. 2022 के छात्रसंघ चुनाव में NSUI के प्रत्याशियों ने ही सभी पदों पर जीत दर्ज की. लेकिन, लोग इस दौरान एक प्रत्याशी की जीत की खुशी में ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाते सुनाई दिए. इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है.

ये नारे तब लगे, जब उपाध्यक्ष पद पर NSUI की फिजा खान ने जीत दर्ज की. मामला उजागर होते ही लोगों में इसको लेकर नाराजगी भी दिखी. इसके बाद कुछ लोगों ने थाना पहुँच कर इस घटना खिलाफ ज्ञापन सौंपा. इसमें उन्होंने माँग की है कि ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाने वाले लोगों पर पुलिस तत्काल प्रभाव से कार्रवाई करे. उन्होंने ऐसे लोगों को समाज के लिए कलंक करार दिया.

झारखंड में भी चुनावों के समय गूँज चुके हैं ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे

ऐसा पहली बार नहीं है कि किसी चुनाव जीतने के बाद ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगे हों. मई 2022 में झारखंड के हजारीबाग में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने का मामला सामने आया था. बताया गया कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतगणना के बाद बरकट्ठा प्रखंड के शिलाडीह पंचायत में पंचायत समिति सदस्य के पद पर अमीना खातून की जीत के जश्न में ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे सुनने को मिले थे.

तब इस मामले में एक्शन लेते हुए पुलिस ने भी निर्वाचित प्रतिनिधि सहित तकरीबन 62 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था, जिसमें 12 नामजद थे. तब SP मनोज रतन चौथे ने बताया था कि अमीना खातून के विजय जुलूस में इस तरह की नारेबाजी के वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने कोर्रा थाने में एफआईआर दर्ज की, जिसमें 12 लोगों को नामजद किया गया था. इसके अलावा 50 अज्ञात लोगों को भी मामले में आरोपित बनाया गया था.