ईद से पहले कई राज्यों में पुलिस का अलर्ट, कहीं कर्फ्यू, तो कहीं DJ पर पाबन्दी, सोशल मीडिया पर पुलिस की पैनी नजर

रामनवमी और हनुमान जयंती पर हिंसा के बाद से देश के कई राज्यों की पुलिस अलर्ट हो गई है. आने वाले त्योहारों के मद्देनजर पुलिस ने अपने हिसाब से अलर्ट किया है. उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश सहित कई सरकारों ने आगामी त्योहार ईद को लेकर ऐतिहासिक कमद उठाए हैं. जहां मध्य प्रदेश के इंदौर शहर के खरगोन में ईद पर कर्फ्यू लगाया है. वहीँ उत्तर प्रदेश के मेरठ में जागरण पर रोक लगा दी गई है. साथ ही यूपी की राजधानी लखनऊ में सख्ती बढ़ा दी गई है.

बता दें कि मुस्लिमों का रमजान समाप्ति की ओर है. चाँद दिखने के बाद 2 मई या 3 मई को ईद मनाई जाएगी. वहीँ हिन्दुओं का प्रमुख त्योहार अक्षय तृतीय भी 3 मई को है. ऐसे में दोनों समुदायों के त्योहारों को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. उत्तर प्रदेश, झारखण्ड, जम्मू-कश्मीर और मध्य प्रदेश समेत कई राज्यों ने त्योहारों पर प्रतिबंधों का ऐलान किया है.

यूपी में ईद पर हाई अलर्ट

कोरोना महामारी में प्रतिबंध के बाद दो साल बाद ईद मनाई जाएगी. ऐसे में ईद की नमाज को लेकर राजधानी लखनऊ में सुरक्षा व्यवस्था को चाक-चौबंद किया गया है. पिछले शुक्रवार को संपन्न हुई अलविदा की नमाज के दौरान भी पुलिस सतर्क रही.

वहीं, मेरठ में हिंदू संगठनों को जागरण करने अनुमति नहीं दी गई है. ईद की पूर्व संध्या पर मुस्लिम बहुल इलाके हाशिमपुरा में जागरण आयोजित करने की योजना बना रहे संगठनों को एसपी सिटी ने अनुमति नहीं दी है.

बता दें कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने 30 अप्रैल को राज्य में लाउडस्पीकरों को लेकर अभियान खत्म किया है. धार्मिक स्थलों से लगभग 54,000 लाउड स्पीकर हटा दिए गए हैं. उत्तर प्रदेश में जिला प्रशासन ने भी 60,295 लाउडस्पीकरों की आवाज़ कम कर दी है.