“मंदिरों के सामने मुस्लिम महिलाएं बैठकर पढ़ेंगी कुरान”, सपा नेत्री के विवादित बोल, हिजाब पर की थी हाथ काटने की बात

लाउडस्पीकर – अजान, विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा. उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में अब यह मामला तूल पकड़ता जा रहा है. हाल ही में राज ठाकरे और कुछ अन्य हिन्दू संगठनों ने मस्जिद के सामने हनुमान चालीसा का पाठ करने का ऐलान किया है. अब इस विवाद में एक और नाम सामने जुड़ गया है. समाजवादी पार्टी की विवादित छवि वाली महिला नेता रुबीना खानम ने हिन्दुओं को धमकी दी है. उन्होंने कहा है कि यदि मुस्लिम मजहब को निशाना बनाया गया, तो सैकड़ों मुस्लिम महिलाएं मंदिरों के सामने बैठकर कुरान पढ़ेंगी.      

रिपोर्ट्स के अनुसार, उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में हिन्दू संगठनों ने 21 चौराहों पर लाउडस्पीकर लगाने का ऐलान किया था. जिसके बाद सपा नेत्री का यह विवादित बयान सामने आया है.

खानम ने कहा कि भाजयुमो और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) की ओर से लाउडस्पीकर विवाद को खड़ा किया जा रहा है और रमजान महीने में अराजकता पैदा करने का षड्यंत्र रचा जा रहा है. उन्होंने प्रशासन से ऐसे तत्वों पर रोक लगाए जाने की अपील की है. उन्होंने कहा कि अगर किसी ने भी दूसरे धर्म और लोगों की आस्था पर चोट पहुँचाई तो सैकड़ों मुस्लिम महिलाएँ मंदिरों के सामने लाउडस्पीकर पर कुरान पढ़ेंगी.

बता दें कि इससे पहले वह कर्नाटक हिजाब मामले में विवादित बयान देने के बाद चर्चा में आई थीं. उन्होंने धमकी देते हुए कहा था कि जो कोई भी हिजाब पर हाथ डालेगा, उसके हाथ काट दिए जाएँगे.

बता दें कि ये उसी समाजवादी पार्टी की नेत्री हैं. जिसके मुखिया अखिलेश यादव यूपी विधानसभा चुनावों से पहले मंदिर-मंदिर फिरते थे. साथ ही अपने को कट्टर हिन्दू साबित करने में लगे हुए थे.