“लाल टोपी यानी यूपी के लिए रेड अलर्ट, लाल टोपी वालों को सिर्फ सत्ता से प्यार” गोरखपुर में नाम लिए बगैर प्रधानमंत्री ने अखिलेश यादव पर साधा निशाना

गोरखपुर में पीएम मोदी ने भोजपुरी में अपने भाषण की शुरुआत की. उन्‍होंने कहा – धर्म, आध्‍यात्‍म और क्रांति का नगरी गोरखपुर के देव तुल्‍य लोगन के प्रणाम करत बानी. ये पावन धरती के कोटि-कोटि नमन. आप सब लोग जोवने खाद कारखाना और एम्‍स का बहुत दिन से इंतजार करत रहलीं आज ऊ घड़ी आ गईल बा. आप सबके बहुत बहुत बधाई.

पीएम मोदी ने मंगलवार को एम्स और खाद कारखाने का उद्घाटन करने के बाद जनसभा को संबोधित किया. इस जनसभा में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बिना नाम लिए अखिलेश यादव पर जमकर निशाना साधा. पीएम ने अपने भाषण में कहा, “यूपी भलीभांति जानता है कि लाल टोपी वालों को सिर्फ लाल बत्ती से मतलब रहा है. उनका आपके दुःख दर्द से कोई वास्ता नहीं है. इसे सिर्फ सत्ता चाहिए, गुंडे-माफिया को संरक्षण देने, आतंकवादियों को जेल से छुड़ाने के लिए. लाल टोपी वाले यूपी के रेड अलर्ट यानी खतरे की घंटी हैं.”

पीएम ने इस दौरान विपक्ष पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने आगे कहा, “लाल टोपी वालों को यूपी में घोटालों के लिए सरकार चाहिए. लाल टोपी वालों को सत्ता और लालबत्ती से मतलब रहा है. उनको आपके दुख तकलीफ से कोई लेना देना नहीं है. लाल टोपी वालों को सत्ता चाहिए, अवैध कब्जे के लिए अपनी तिजोरी भरने के लिए, आतंकवादियों पर मेहरबानी दिखाने के लिए सत्ता चाहिए. पिछली सरकार ने यहां एम्स के लिए जमीन देने में काफी आनाकानी की. जब बात आर-पार की हो गई तो सरकार को मजबूरन जमीन देना पड़ा. टाइमिंग पर सवाल उठाने वालों को भी आज का कार्यक्रम करारा जवाब है. कोरोना संकट के दौरान भी डबल इंजन की सरकार विकास कार्य में लगी रही. कोई भी विकास कार्य रुकने नहीं दिया.”

केवल इतना ही नहीं पीएम ने पिछली सरकार के आदर्शों के बारे में भी बता किया. पीएम ने कहा कि ये लोग (सपा) लोहिया जी, जयप्रकाश जी के आदर्शों को कब का भूल चुके हैं. पीएम ने कहा, “जब मैं मंच पर आया, तो मैं सोच रहा था कि ये भीड़ है. यहां नजर भी नहीं पहुंच रही. जब उस तरफ देखा तो इतनी बड़ी तादात में भीड़, शायद उनको न दिखाई दे रहा होगा न सुनाई दे रहा होगा. फिर भी यहां इतनी भीड़ आई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.