Jaunpur: मुहर्रम के दौरान लगे ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ व ‘सर तन से जुदा’ के नारे, मोहम्मद शकील व 2 अन्य गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश में जौनपुर पुलिस ने एक वीडियो वायरल होने के बाद चार लोगों को गिरफ्तार किया है, जहां एक मुस्लिम भीड़ को मुहर्रम के जुलूस के दौरान ‘सर तन से जुदा’ और ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाते हुए देखा गया था. घटना का वीडियो 10 अगस्त बुधवार को सोशल मीडिया पर वायरल हो गया.

वीडियो वायरल होने के बाद दर्ज हुई एफआईआर

घटना जौनपुर के मीरगंज थाना क्षेत्र के करियांव बाजार की बताई जा रही है. बुधवार को शाम को मुसलमानों का एक समूह ताजिया जुलूस में शामिल हो रहा था, तभी भीड़ में से कुछ इस्लामवादी आपत्तिजनक नारे लगाने लगे और दूसरे समुदाय के लोगों को भी भड़काने की कोशिश करने लगे. वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस हरकत में आई व एफआईआर दर्ज की और इन नारे लगाने वाले लोगों को गिरफ्तार किया.

पुलिस अधीक्षक ने दी जानकारी

ट्वीटर पर घटना की जानकारी देते हुए जौनपुर पुलिस अधीक्षक (एसपी) ग्रामीण ने कहा, “यह पता चला था कि ताजिया जुलूस के दौरान कुछ आपत्तिजनक नारे लगाए गए थे. घटना के वीडियो थे, इसकी जांच की गई और आरोपियों का पता लगाया गया. चूंकि यह आपत्तिजनक था इसलिए एफआईआर दर्ज की गई और चार लोगों को गिरफ्तार किया गया. कार्रवाई की जा रही है.” उन्होंने आगे कहा कि मुहम्मद शकील, अब्दुल जब्बार, मोहम्मद जीशान और मोहम्मद खरीश को घृणास्पद नारे लगाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया.

“गुस्ताख-ए-नबी की एक सजा, सर तन से जुदा” के नाम पर कई हत्याएं

भारत ने लगभग एक सदी तक पैगंबर मोहम्मद (नबी) के खिलाफ ईशनिंदा के नाम पर हत्याओं और कई धमकियों को देखा है, जिसमें महाशय राजपाल अपनी जान गंवाने वाले एक उल्लेखनीय व्यक्ति हैं. हालाँकि, ये घटनाएं हाल के दिनों में नूपुर शर्मा की उस घटना के बाद बढ़ गई हैं जहाँ उन्होंने पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी की थी. उसके बाद से हमने दिनदहाड़े उदयपुर में कन्हैया लाल का सिर कलम करने, उमेश कोल्हे की हत्या और नूपुर शर्मा का समर्थन करने वाले लोगों के खिलाफ दर्जनों धमकियों को देखा है. इन सभी मामलों में नारा एक ही था, “गुस्ताख-ए-नबी की एक सजा, सर तन से जुदा.”