Hijab Controversy: दिल्ली पहुंचा हिजाब विवाद, एक और शाहीनबाग़ की ओर प्रदर्शनकारी

जब किसी देश में एक वायरस फैलता है, तो वह धीरे-धीरे सभी को अपनी गिरफ्त में ले लेता है. ठीक वैसे ही इस समय हिजाब नाम का एक वायरस फैला है. कर्नाटक से फैला यह वायरस अब धीरे-धीरे दूसरे राज्यों में भी दस्तक दे रहा है. ऐसे में यह हिजाब नाम का यह वायरस कर्नाटक से होते हुए दिल्ली के शाहीनबाग़ में फ़ैल रहा है. ये वही शाहीनबाग़ है जहां कभी पहले CAA-NRC के विरोध में आन्दोलनरत फिमेल आन्दोलनकारी बिन बियाहे मां तक बनते हुए पाई गईं थी. शायद यह किसी के रहमो करम से पेट में टपक गया होगा. अब इस नए हिजाब आन्दोलन में भी लड़कियां हिजाब के समर्थन में सड़कों पर उतर आई हैं और नारेबाजी कर रही हैं.

ये भी पढ़ें: शाहीन बाग़ फेम अविवाहित Safura Zargar के बच्चे की इतनी बड़ी बात मीडिया कैसे भूल गई !

जैसे हर वायरस का एक इलाज होता है. वैसे ही इस वायरस का भी एंटीवायरस ढूंढना बहुत ज़रूरी है. अब एक बार फिर से शाहीनबाग़ पर प्रदर्शनकारी इकट्ठे होने लगे हैं. इस बार वे हिजाब के समर्थन में हैं. कई अलग-अलग चैनल्स से बातचीत में प्रदर्शनकारी महिलाओं ने कहा कि वो यहां कर्नाटक में हिजाब को लेकर पैदा हुए विवाद के बाद हिजाब के समर्थन में यहां इकट्ठा हुई हैं. उनका कहना है कि हिजाब पहनना उनका संवैधानिक और धार्मिक अधिकार है और वो इसके समर्थन में प्रदर्शन कर रहे हैं.

दिसंबर 2021 में उडुपी महिला पीयू कॉलेज की छह छात्राओं ने ऐसा दावा किया था कि अधिकारियों की तरफ से कथित तौर पर उन्हें हिजाब पहनकर क्लास में बैठने से मना किया है. इसे लेकर छात्राएं कॉलेज गेट पर ही प्रदर्शन करने लगीं. छात्राओं ने जिला आयुक्त, शिक्षा विभाग के अधिकारियों से भी इस मामले को लेकर संपर्क किया, लेकिन लड़कियों ने अब कर्नाटक हाई कोर्ट में याचिका दायर कर राहत की मांग की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.