Bihar: मां लक्ष्मी की मूर्ति घर लेकर आ रहे थे हिन्दू, मो० खालिद ने पत्थर से हमला कर मूर्ति का तोड़ दिया हाथ

हर हिन्दू त्योहारों पर मुस्लिमों द्वारा अराजकता की खबरें आती रहती हैं. कभी हिन्दुओं के भीड़ पर हमला, तो कभी हिन्दू देवी-देवता के प्रतिमा के साथ छेडछाड की घटना. इस्लामी कट्टरपंथीयों को मौका मिलने की देर है कि वे अपने नापाक इरादों को अंजाम देने में लग जाते हैं. ऐसी ही एक घटना दीपावली पर बिहार में हुई. यहां औरंगाबाद जिले में मुस्लिम समुदाय के एक व्यक्ति खालिद ने मां लक्ष्मी की मूर्ति पर पत्थर फेंके, जिसके बाद मूर्ति का हाथ टूट गया. हालांकि इसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मामला रफीगंज थानाक्षेत्र के गाँव शैलोपुर का है. पीड़ित बलिराम साव ने मामले की शिकायत पुलिस में दी है. शिकायत के मुताबिक गाँव के कुछ हिन्दू प्रतिमा लेकर आ रहे थे. तभी उसी गाँव के मोहम्मद खालिद ने मूर्ति पर पथराव कर दिया. एक पत्थर मूर्ति पर लगा जिससे माता लक्ष्मी का हाथ टूट गया. घटना के जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुँची और हालात पर काबू पाया.

शिकायत पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने आरोपित मोहम्मद खालिद को गिरफ्तार कर लिया. थाना प्रभारी राम इकबाल यादव के मुताबिक पत्थरबाजी अकेले खालिद ने ही की थी. उन्होंने बताया कि क्षेत्र में शांति-व्यवस्था कायम है.

तेजी से बढ़ रहीं मूर्तियों पर हमले की घटनाएँ

हिन्दू मंदिरों और मूर्तियों को निशाना बनाने की हाल में कई घटना सामने आई है. 18 अक्टूबर 2022 को मेरठ के एक मंदिर में मौजूद समाधि पर पेशाब के आरोप में पुलिस ने शोएब को गिरफ्तार किया था. अक्टूबर 2022 में ही बरेली के एक मंदिर के दान पात्र से जुबैर को चोरी करते पकड़ा गया था. पकड़े जाने पर उसने मंदिर को बम से उड़ाने की धमकी भी दी थी. इसी माह आगरा में साहिल नाम के मैरिज हॉल के मालिक पर माँस और जूठी हड्डियाँ बगल के दुर्गा मंदिर में फेंकने का केस दर्ज हुआ था.

मार्च 2021 में उत्तर प्रदेश के ही गाजियाबाद में आसिफ को शिवलिंग पर पेशाब करते पकड़ा गया था. जुलाई 2019 में इरशाद उर्फ ईरानी ने UP के ही जहाँगीरबाद में महादेव के मंदिर में शिवलिंग पर पेशाब किया था. प्राचीन शिव मंदिर की पवित्रता को तार-तार करने वाले इरशाद के खिलाफ बजरंग दल के सदस्यों ने पुलिस में शिकायत दर्ज की थी, जिसके बाद बुलंदशहर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था.