A फॉर अर्जुन B फॉर बलराम… भारतीय संस्कृति को ध्यान में रखते हुए बच्चों को शिक्षा दे रहा लखनऊ का 125 वर्ष पुराना स्कूल

यदि आपके बच्चे को कोई A फॉर एप्पल और B फॉर बॉय की जगह A फॉर अर्जुन और B फॉर बलराम पढाए, तो आश्चर्यचकित मत हो जाइएगा. जी हां, लखनऊ के एक स्कूल ने भारतीय संस्कृति को ध्यान में रखते हुए यह कदम उठाया है. यहां के स्कूल में बच्चों के पाठ्यक्रम में नया बदलाव किया गया है. स्कूल के प्रधानाचार्य का कहना है कि इस नए सिस्टम से बच्चों को पौराणिक और ऐतिहासिक ज्ञान मिलेगा.

सोशल मीडिया पर इस किताब के कई पन्ने वायरल हो रहे हैं. जिसे देखकर सोशल मीडिया यूजर्स स्कूल और प्रिंसिपल के इस पहल की तारीफ कर रहे हैं. वायरल हो रहे किताब में A से Z तक के शब्दों के मतलब भारतीय पौराणिक इतिहास के सन्दर्भ में बताया जा रहा है.

लखनऊ के जिस स्कूल ने यह पहल की है, उसका नाम अमीनाबाद इंटर कॉलेज है. लगभग 125 साल पुराना यह स्कूल अमीनाबाद में स्थित है. किताब में ABCD का अर्थ चित्र के साथ वर्णन किया गया है. बच्चों को पढ़ाया जा रहा है- A फॉर अर्जुन इज अ ग्रेट वॉरियर. ऐसे ही B फॉर का मतलब बलराम इज ब्रदर ऑफ कृष्णा बताया जा रहा है.

स्कूल के प्रधानचार्य साहेब लाल मिश्रा का कहना है कि बच्चों को आजकल भारतीय संस्कृति के बारे में कम जानकारी है. उनके ज्ञान को बढ़ाने के लिए यह पहल की गई है. इससे छात्रों को भारतीय संस्कृति के बारे में जानकारी मिलेगी.

स्कूल नगर निगम द्वारा संचालित है और 1897 में स्थापित इस स्कूल के प्रधानाचार्य का कहना है कि यह किताब PDF फॉरमेट भी उपलब्ध है. उन्होंने कहा कि अंग्रेजी वर्णमाला की तरह ही हिंदी वर्णमाला के लिए भी ऐसे प्रारूप तैयार करने की कोशिश की जा रही है. हिंदी में अधिक अक्षर हैं, इसलिए इसकी प्रक्रिया में अधिक समय लग रहा है.