Year-Ender 2021: जनकल्याण को ध्यान में रखते हुए शुरू की गई केन्द्र सरकार की ये योजनाएं

बीता साल बहुत ही दुःख भरा रहा है. कभी कोरोना, कभी डेंगू तो कभी किसी अन्य बीमारी ने लोगों को मुसीबत में डाला. देश के हर नागरिक के लिए इस साल डर का माहौल बन गया था. कब क्या हो जाए, कोई नहीं जानता था. लेकिन इसके बावजूद केन्द्र सर्कार कि कुछ योजनाएं लांच हुईं जिसने लोगों को राहत देने के साथ ही थोड़ी बहुत हिम्मत बंधाई.

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज (PMGKP) बीमा योजना

महामारी के खिलाफ हमारी लड़ाई में स्वास्थ्य कार्यकर्ता सबसे आगे रहे हैं। सरकार ने 1 जून 2021 को ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज (पीएमजीकेपी) बीमा योजना फॉर हेल्थ वर्कर्स फाइटिंग COVID-19’ को 24 अप्रैल 2021 से एक साल के लिए बढ़ा दिया। इस योजना को शुरू में 30 मार्च 2020 को शुरू किया गया था। इस योजना के अंतर्गत सामुदायिक स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और निजी स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं सहित सभी स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं को 50 लाख रुपये का व्यापक व्यक्तिगत दुर्घटना कवर प्रदान किया गया था.

ये भी पढ़ें: केवल कोरोना नहीं, 2021 में इन बीमारियों ने बरपाया सबसे ज्यादा कहर, दुनिया छोड़ने को लोग हुए मजबूर

e-Shram Portal

असंगठित क्षेत्र के मजदूरों मदद के लिए,  भारत सरकार ने इस वर्ष 26 अगस्त, 2021 को असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों और मजदूरों के कल्याण के लिए ई-श्रम पोर्टल योजना नाम से एक नई योजना शुरू की। केंद्र सरकार ने देश के इन करोड़ों श्रमिकों के समग्र कल्याण के लिए असंगठित श्रमिकों के लिए एक राष्ट्रीय डेटाबेस तैयार किया। श्रम और रोजगार मंत्रालय ई-श्रम पोर्टल के लिए आवेदन करने वाले को विशिष्ट पहचान संख्या (यूएएन) कार्ड प्रदान करेगा। आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार, अब तक इस पोर्टल पर 12 करोड़ से अधिक लोगों ने पंजीकरण कराया है।

ग्राम उजाला योजना

24 मार्च 2021 को शुरू की गई इस योजना का उद्देश्य ग्राम उजाला योजना के तहत केवल 10 रुपये प्रति पीस पर उच्च गुणवत्ता वाले ऊर्जा कुशल एलईडी बल्ब उपलब्ध कराना है। एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (EESL) ग्रामीण आबादी को लाभ पहुंचाने के लिए सिर्फ 10 रुपये में एलईडी बल्ब उपलब्ध कराएगी।

ये भी पढ़ें: 2021: छोटे पर्दे की वो 5 महान हस्तियाँ, जिनका इस साल हो गया निधन

रेल कौशल विकास योजना

20 अगस्त 2021 को शुरू की गई इस योजना का उद्देश्य युवाओं को कौशल विकास प्रशिक्षण प्रदान करना है। भारतीय रेलवे का लक्ष्य भारतीय रेलवे प्रशिक्षण संस्थानों के माध्यम से उद्योग से संबंधित कौशल में प्रवेश स्तर का प्रशिक्षण देकर भारत के युवाओं को सशक्त बनाना है।

पीएम दक्ष योजना

8 अगस्त 2021 को शुरू की गई, इस योजना का उद्देश्य अनुसूचित जाति समुदायों के सदस्यों और ओबीसी समुदायों के गरीब वर्ग, स्वच्छता कार्यकर्ताओं के अपने लक्षित समूह की योग्यता स्तरों में सुधार करना है। पीएम दक्ष योजना अनुसूचित जाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, ईबीसी, डीएनटी, कचरा बीनने वालों सहित स्वच्छता कार्यकर्ताओं को कवर करने वाले हाशिए के व्यक्तियों के कौशल के लिए एक राष्ट्रीय कार्य योजना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.