“मुनव्वर राणा कब छोड़ेंगे उत्तर प्रदेश?”: राणा ने दी सफाई, सीएम योगी आदित्यनाथ की प्रशंसा

हाल ही में संपन्न हुए विधानसभा चुनावों में सीएम योगी आदित्यनाथ की सत्ता में वापसी को लेकर जाने-माने कवि मुनव्वर राणा ने अपने बयान से सुर्खियां बटोरीं. राणा ने कसम खाई थी कि अगर प्रदेश में दोबारा योगी की सरकार बनी तो वह उत्तर प्रदेश छोड़कर चले जाएंगे.

उनके इस ऐलान से दिलों में सियासी माहौल गर्म हो गया था. हालांकि, उत्तर प्रदेश राज्य में योगी सरकार की शानदार जीत के बाद से, कवि को सोशल मीडिया यूजर्स क्रूरता से ट्रोल कर रहे हैं, जिसमें पूछा जा रहा है कि राणा कब राज्य छोड़ने की प्लानिंग बना रहे हैं? सोशल मीडिया पर कुछ यूजर्स ने उनके लिए ट्रेन टिकट खरीदने की भी बात कही थी . पिछले महीने चुनावों में भाजपा की भारी जीत के बाद से मुन्नवर राणा को माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर हजारों लोग व्यंग्यात्मक और सर्कास्टिक मीम्स बनाकर ट्रोल कर रहे हैं.

इस बीच हाल के घटनाक्रम में राणा ने आखिरकार राज्य नहीं छोड़ने के अपने कारण के बारे में खुलासा किया है. एक दैनिक हिंदी समाचार से बातचीत में मुनव्वर ने कहा कि उनकी तबीयत ठीक नहीं है, इस कारण वह यूपी नहीं छोड़ पा रहे हैं. मुनव्वर राणा ने राज्य न छोड़ने का कारण बताने के अलावा योगी सरकार की तारीफों के ढेर भी लगा दिए. लाउडस्पीकर विवाद पर योगी सरकार के कदम की सराहना करते हुए मुनव्वर राणा ने कहा, “यह एक अच्छा निर्णय है, दोनों समुदायों को इसके साथ खड़ा होना चाहिए और दोनों को भी इसे बरकरार रखना चाहिए. यह सरकार का काम है. कई मस्जिदों में बड़ी अज़ान होती है, अगर नमाज़ शोर में बदल जाती है, तो यह इबादत नहीं है, परेशान करने वाली है”.

इससे पहले राणा ने ट्विटर पर सीएम योगी की एक तस्वीर शेयर की थी, जिसमें वह मां के पैर छूकर आशीर्वाद लेते नजर आ रहे थे. मनमोहक तस्वीर के साथ एक कैप्शन जोड़ते हुए, राणा ने लिखा, ” मेरी ख़्वाहिश है कि मैं फिर से फ़रिश्ता हो जाऊँ, माँ से इस तरह लिपट जाऊँ कि बच्चा हो जाऊं.”