1 June से बदलेंगे ये 5 नियम, जानिए आम आदमी की जेब पर क्या होगा असर?

मई महीने को खत्म होने मैं सिर्फ कुछ ही दिन शेष है. जिसके बाद नए महीने की शुरुआत होने जा रही है. जून महीने के शुरुआत के साथ ही कई नियम भी बदल जाएंगे. नए नियम लागू हो जाएंगे. हालांकि ये नियम आपको राहत नहीं बल्कि महंगाई के झटके देंगे. जी हां 1 जून से कई ऐसे बदलवा होने जा रहे हैं, जो आपकी जेब पर बोझ बढ़ा देगा. आपकी सेविंग और खर्च पर असर पड़ने वाला है. नए नियम की जानकारी नहीं होने पर आपको आर्थिक नुकसान हो सकता है.

1 जून से लागू होगा गोल्ड हॉलमार्किंग का दूसरा चरण

1 जून से गोल्ड हॉलमार्किंग का दूसरा चरण लागू होगा. पिछले साल पहले चरण के दौरान 256 जिलों में हॉलमार्किंग को अनिवार्य कर दिया गया था. अब इसके दूसरे चरण की शुरुआत 1 जून से होगी. इसमें 32 नए जिलों को शामिल किया जा रहा है. यानी इन जिलों में बिना हॉलमार्क वाला सोना बेचना और खरीदना संभव नहीं होगा. ज्लैवर्स को अपने गहनों पर BIS हॉलमार्क लगवाना होगा. आपको बता दें कि ये BIS मार्क सोने की शुद्धता की गारंटी होती है.

SBI देगा झटका

1 जून से देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की ब्याज दरों में बदलाव होने वाला है. SBI 1 जून से लोन की ब्याज दरों में बढ़ोतरी करने जा रही है. SBI ने अपने होम लोन एक्सटर्नल बेंचमार्क लेंडिंग रेट में 40 बेसिक प्वाइंट की बढ़ोतरी का फैसला किया है. यानी 1 जून से SBI के होम लोन की ब्याज दर 7.05 फीसदी हो जाएगा. वहीं आरएलएलआर 6.65 फीसदी प्लस सीआरपी होगा.

थर्ड पार्टी इंश्योरेंस मैं भी होगा बदलाव

सड़क परिवहन मंत्रालय ने मोटर व्हीकल्स इंश्योरेंस में बदलाव करने का फैसला किया है. 1 जून से 1000cc तक की इंजन क्षमता वाली कारों के लिए इंश्योरेंस प्रीमियम 2094 रुपए का होगा. जबकि साल 2019-20 में ये 2072 रुपए का था. जबकि 1000cc से 1500cc वाली कारों के लिए इंश्योरेंस प्रीमियम 3416 रुपए होगा, जिसे साल 2019-20 में 3221 रुपए है. अगर आपकी गाड़ी 1500cc से ज्यादा का है तो अब आपको इंश्योरेंस प्रीमियम 7890 रुपए होगा. 3 साल के लिए सिंगल प्रीमियम को भी बढ़ाया गया है. वहीं दोपहिया वाहनों के लिए भी प्रीमियम बढ़ाई गई है.

Axis बैंक का बदल जाएगा नियम

वहीं प्राइवेट सेक्टर के एक्सिस बैंक ने भी सेविंग अकाउंट के नियम में बदलाव किया है. बैंक ने मंथली बैलेंस की लिमिट बढ़ाई है. 1 जून से एक्सिस बैंक नेसेमी अर्बन और रूरल इलाकों के लिए ईजी सेविंग्स और सैलरी प्रोग्राम्स अकाउंट के लिए मंथली बैलेंस की सीमा 15000 से बढ़ाकर 25000 रुपए कर दी है. इसके अलावा लिबर्टी सेविंग अकाउंट के लिए भी लिमिट 15000 रुपए से बढ़ाकर 25000 रुपए कर दी गई है.

LPG गैसे सिलेंडर के दाम में बदलाव

हर महीने की पहली तारीख को गैस सिलेंडर की कीमतों में बदलाव किया जाता है. यानी 1 जून को एक बार फिर से गैस सिलेंडर की कीमतों में बदलाव होगा. 1 जून को तेल कंपनियां या तो इसकी कीमतों में और इजाफा कर सकती है, जिसकी संभावना कम है, क्योंकि हाल ही में एलपीजी सिलेंडर के दाम में बढ़ोतरी की गई है. हालांकि सिलेंडर की कीमत कम हो इसकी भी संभावना बहुत कम दिख रही है. ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि तेल कंपनियां 1 जून को सिलेंडर की कीमत को यशास्थिति में रख सकती है.