सोने की कीमत हुई कम, लेकिन बढ़े आयात शुल्क से चुकाने पड़ेंगे ज्यादा दाम

सोने की कीमत 50,500 रुपए प्रति 10 ग्राम से नीचे आने के बावजूद गहनों के ज्यादा दाम चुकाने होंगे। इसके चलते मांग कमजोर पड़ सकती है और ज्वेलरी रिटेलरों का बिजनेस व मुनाफा प्रभावित होगा। क्रिसिल की एक रिपोर्ट के मुताबिक इस महीने से सोने पर आयात शुल्क 5 फीसदी से बढ़ाकर 12.5 फीसदी होना इसकी वजह होगी।
बुधवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक, सोने पर आयात शुल्क 7.5% बढ़ने से सोने के गहनों की उत्पादन लागत बढ़ेगी। इसकी भरपाई के लिए दाम बढ़ाए जाएंगे। इसके चलते मांग घटेगी क्योंकि विवेकाधीन खर्चों के तौर पर लोग सोना खरीदने से बचेंगे। सोने पर आयात शुल्क बढ़ने का गोल्ड ज्वैलरी बिजनेस पर असर भांपने के लिए क्रिसिल ने 82 रिटेलरों का विश्लेषण किया। देश के गोल्ड ज्वैलरी मार्केट में इनकी हिस्सेदारी करीब 40% है। रिपोर्ट के मुताबिक महामारी के चलते पैदा हुईं परेशानियां कम होना के बाद, अटकी हुई मांग (पेंट-अप डिमांड) निकली थी। इसके अलावा फरवरी 2021 में आयात शुल्क 5% घटने से भी बिक्री में उछाल आया था।