हनुमान चालीसा विवाद: सांसद नवनीत राणा के घर के बाहर शिवसेना कार्यकर्ताओं का हंगामा, सीएम आवास पर बढाई गई सुरक्षा

शिवसेना कार्यकर्ताओं ने शनिवार को अमरावती के सांसद नवनीत राणा और विधायक रवि राणा के आवास के बाहर विरोध प्रदर्शन किया, जिन्होंने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के निजी आवास मातोश्री के बाहर “हनुमान चालीसा” का जाप करने की अपनी योजना की घोषणा की थी.एमपी-एमएलए दंपत्ति को अपनी योजना पर आगे बढ़ने से रोकने के लिए पार्टी कार्यकर्ता मातोश्री के बाहर भी जमा हो गए. इस बीच, किसी भी कानून-व्यवस्था की स्थिति को रोकने के लिए सीएम आवास के पास सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

इससे पहले शुक्रवार को, मुंबई पुलिस ने दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 149 के तहत नोटिस जारी किया, जो पुलिस को संज्ञेय अपराधों को रोकने के लिए कदम उठाने की अनुमति देता है. इससे पहले रवि राणा ने कहा था, “मैंने उद्धव ठाकरे से हनुमान जयंती पर हनुमान चालीसा का पाठ करने का अनुरोध किया था. सीएम विदर्भ क्षेत्र में नहीं आते हैं. वह दो साल से मंत्रालय नहीं आए है. महाराष्ट्र में इन सभी समस्याओं के साथ, मैंने उन्हें हनुमान चालीसा का पाठ करने के लिए कहा. उद्धव ठाकरे हिंदुत्व को भूल गए हैं.

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के प्रमुख राज ठाकरे ने पहले राज्य सरकार से मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने के लिए कहकर विवाद खड़ा कर दिया था, जबकि चेतावनी दी थी कि अगर मांग पूरी नहीं हुई, तो उनकी पार्टी के सदस्य “हनुमान चालीसा” बजाने के लिए लाउडस्पीकर लगाएंगे. ठाकरे ने कहा था,“मस्जिदों में लाउडस्पीकर 3 मई तक बंद कर दिए जाने चाहिए. नहीं तो हम लाउडस्पीकर पर हनुमान चालीसा बजाएंगे. यह एक सामाजिक मुद्दा है, धार्मिक नहीं. मैं राज्य सरकार से कहना चाहता हूं कि हम इस मुद्दे पर पीछे नहीं हटेंगे.”