रविश कुमार का घिसा-पिटा व्यंग्य, आलिया-रणबीर के बहाने पीएम मोदी पर साधा निशाना

एनडीटीवी के रवीश कुमार, जो अक्सर फर्जी खबरें फैलाते हैं और प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ फेसबुक पर अक्सर पोस्ट्स करते रहते हैं, एक बार फिर पीएम मोदी पर निशाना साध रहे हैं. रणबीर कपूर और आलिया भट्ट की बहुप्रचारित बॉलीवुड शादी का उपयोग करते हुए, रवीश ने फिर से प्रधानमंत्री को निशाना बनाने के लिए अपने घिसे-पिटे व्यंग्य का इस्तेमाल करने की कोशिश की है.

रवीश कुमार ने अपने फेसबुक पोस्ट में भारतीय मीडिया से पूरी शादी को बिना किसी रुकावट के दिखाने की अपील की और कहा कि ‘ऐसा ना हो कि सात फेरे का लाइव कवरेज चल रहा हो और बीच में अचानक मन की बात का प्रसारण होने लगे’. उन्होंने पीएम मोदी से इस दौरान कोई भी टीवी शो करने से बचने का अनुरोध किया, ताकि वे शादी की कवरेज का आनंद उठा सकें.

इस हाई-प्रोफाइल शादी में शामिल होने वाले मेहमानों के लिए NDTV एंकर ने भी कुछ सलाह दी थी. उन्होंने मेहमानों से कार्यक्रम में कैमरे पर पीएम मोदी को धन्यवाद देने के लिए कहा, वरना उनके लौटने से पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) उनके घर पर होगा. जाहिर है, वित्तीय धोखाधड़ी के मामलों में प्रवर्तन निदेशालय द्वारा कुछ हाई-प्रोफाइल लोगों के खिलाफ कार्रवाई वास्तव में रवीश कुमार को परेशान कर रही है. रवीश ने इस अवसर पर नींबू की कीमतों को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए मेहमानों से कहा कि वे विवाह स्थल से अपनी जेब में नींबू नहीं ले जाएं.

उनके इस पोस्ट को पढने के बाद कुछ लोगों को NDTV एंकर रविश कुमार की मनःस्थिति के बारे में वास्तव में चिंतित कर दिया. यह पहली बार नहीं है जब रवीश अपने फेसबुक अकाउंट का इस्तेमाल कर अपशब्द कहे हैं. इससे पहले, उन्होंने बीजेपी आईटी सेल पर सिर्फ इसलिए उन्हें निशाना बनाने का आरोप लगाया था क्योंकि इंटरनेट पर किसी ने उनके बारे में मीम बनाया था. यह बीजेपी आईटी सेल के बारे में उनका पहला शेख़ी नहीं था, रवीश ने केरल सरकार के कोरोनावायरस संकट से निपटने के तरीके पर सवाल उठाने के लिए भी उन पर हमला किया था.

रवीश अक्सर फेसबुक का इस्तेमाल पीएम मोदी और बीजेपी से जुड़ी फर्जी खबरें फैलाने के लिए भी करते रहे हैं. ऐसे ही एक अवसर पर, उन्होंने दैनिक भास्कर पर आरोप लगाया कि उन्होंने भास्कर ब्यूरो प्रमुख द्वारा समाचार पत्रों में विज्ञापन प्रकाशित करने के तरीके के बारे में शिक्षित किए जाने से पहले, पीएम मोदी के लिए पूरे पृष्ठ पर जन्मदिन की शुभकामनाएं प्रकाशित कीं. रवीश को हर मौके पर बीजेपी आईटी सेल और पीएम मोदी के खिलाफ शेखी बघारने के अलावा हर मोड़ पर उनके खिलाफ साजिश भी नजर आती है. जब कम टीआरपी के कारण एनडीटीवी को कुछ लोकप्रिय पैक्स से हटा दिया गया, तो रवीश ने इसे एनडीटीवी तक पहुंच को अवरुद्ध करने की योजना बताया.