Lata Mangeshkar Funeral: पंचतत्व में विलीन हुईं स्वर कोकिला, राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार, भाई और भतीजे ने मुखाग्नि

ये वसंत हमसे रूठ गया, सदा के लिए… भारत ने अपना रतन खो दिया… भारत की सुर कोकिला लताजी नहीं रहीं. ये सरस्वती का सुर विराम है.

भाई लता जी के छोटे भाई हृदयनाथ और भतीजे आदित्य ने उन्हें मुखाग्नि दी

कोरोना और निमोनिया से 29 दिन लड़ने के बाद रविवार की रात 92 वर्ष की उम्र में वे दुनिया को अलविदा करके भगवान के परम धाम को प्रस्थान कर गईं. लता जी का इलाज मुंबई के कैंडी अस्पताल में चल रहा था. रविवार शाम 7 बजकर 16 मिनट पर लता जी पंचतत्व में विलीन हो गईं. उनके भाई हृदयनाथ मंगेशकर और भतीजे आदित्य ने मुखाग्नि दी. इस दौरान लता ताई की बहनें उषा, आशा और मीना भी मौजूद थीं.उनके निधन पर देश में 2 दिन का राष्ट्रीय शोक रहेगा. साथ ही राष्ट्रीय ध्वज भी आधा झुका रहेगा.

इससे पहले भारतीय जल, थल और वायु सेना ने उन्हें अंतिम विदाई दी. अब उनके परिवार के रीति-रिवाज़ और परम्परा के अनुसार, धार्मिक काण्ड किए जा रहे हैं.

नरेन्द्र भाई ने लता दीदी को किया प्रणाम

स्वर कोकिला को श्रद्धांजली अर्पित करने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी पहुंचे. जहां शिवाजी पार्क के शमशान में उन्होंने लता जी को श्रद्धांजली दी. प्रधानमंत्री ने उनके पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजली दिया. इसके बाद वे वहां से रवाना हो गए. लता जी के अंतिम संस्कार में शरद पवार, उद्धव ठाकरे समेत कई राजनेता भी पहुंचे. वहीं, शाहरुख खान और सचिन तेंदुलकर समेत कई कलाकार और फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े लोग मौजूद रहे.

लता जी के घर पर सेना और पुलिस के जवान उन्हें अंतिम विदाई देते हुए
लता जी के पार्थिव शरीर को कंधा देते हुए तीनों सेनाओं के जवान
स्वर कोकिला के अंतिम दर्शन को मुंबई के सडकों पर उमड़ा लोगों का हुजूम
राजकीय सम्मान के साथ लता जी को किया गया विदा

One thought on “Lata Mangeshkar Funeral: पंचतत्व में विलीन हुईं स्वर कोकिला, राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार, भाई और भतीजे ने मुखाग्नि

Leave a Reply

Your email address will not be published.