हिन्दू नेता के हत्यारे को 10 लाख रुपए देगा खलिस्तानी संगठन, कानूनी कार्रवाई में भी करेगा मदद, पंजाब पुलिस की भूमिका भी संदिग्ध

पंजाब में मूर्तियों की बेअदबी के विरोध में बैठे हुए नेता सुधीर सूरी की गोली मारकर हत्या कर दी गई. ऐसे में एक ओर जहां इसके खिलाफ हिंदू में आक्रोश न कर बराबर व्याप्त है. वहीं खालिस्तानी अलगाववादी संगठन ने गोली मारने वाले संदीप को दस लाख रुपए देने का ऐलान किया है. सिख फ़ॉर जस्टिस (SFJ) के आतंकी गुरपवंत सिंह पन्नू ने कहा कि यह पैसा संदीप को कानूनी कार्रवाई में मदद करेगा. आतंकी पन्नू ने कहा है कि SFJ संदीप के साथ खड़ा है. उसने कहा कि 2% सिखों को मसलने की बात करने वाले हिंदू नेता को मारना गलत नहीं है. इसलिए संदीप को इंसाफ दिलाने के लिए SFJ उसकी मदद करेगी. पन्नू ने कहा कि वह संदीप को 10 लाख रुपए देगा, ताकि वह कानूनी लड़ाई लड़ सके.

खालिस्तानी आतंकी पन्नू ने कहा है सूरी की हत्या को आतंकवाद नहीं, कत्ल बताया. उसने कहा कि संदीप कोई आतंकवादी नहीं है. उसने किसी सार्वजनिक जगह पर बम नहीं मारा है. पन्नू ने कहा कि किसी राजनीतिक व्यक्ति का कत्ल करने का मतलब आतंकवाद नहीं होता. संदीप ने पाँच गोलियाँ मारीं, जो हिंदू नेता सुधीर सूरी को लगी.

बता दें कि दो दिन पहले सुधीर सूरी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. आज रविवार (6 नवंबर 2022) को उनका अंतिम संस्कार किया जाना है. दुर्गियाना मंदिर के नजदीकी श्मशान घाट में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. शव यात्रा निकलने से पहले आतंकी पन्नू ने एक वीडियो सोशल मीडिया पर डाल दिया है.

अमृतसर के व्यस्त इलाके में शुक्रवार (4 नवंबर 2022) को शिव सेना हिंदुस्तान के प्रमुख 58 वर्षीय सुधीर सूरी की उस समय गोली मारकर हत्या कर दी गई, जब वे मंदिर के बाहर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे. उन्हें पाँच गोलियाँ मारी गई थीं. गोली लगने के बाद वे गिर गए और अस्पताल ले जाने के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया.

सूरी शहर के सबसे व्यस्त स्थानों में से एक मजीठा रोड पर स्थित गोपाल मंदिर के प्रबंधन का विरोध कर रहे थे. दरअसल, कुछ समय पहले सड़क के किनारे हिंदू देवी-देवताओं की कुछ टूटी-फुटी हुई मूर्तियाँ पाई गई थीं. इसके साथ ही वहाँ आसपास कूड़ा फेंकने का वे विरोध कर रहे थे. उन्होंने मंदिर को अपवित्र करने का आरोप लगाया था.

इस मामले में पुलिस ने 31 साल के संदीप सिंह उर्फ सन्नी नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने सन्नी के पास से घटना में इस्तेमाल किए गए .32 बोर का लाइसेंसी हथियार जब्त किया है. पुलिस के मुताबिक, आरोपित का धरना स्थल के पास कपड़े की एक दुकान है.

आरोपित संदीप का कट्टरपंथी संगठन वारिस पंजाब दे (WPD) के साथ कनेक्शन भी सामने आया है. इस संगठन का नेतृत्व दुबई से लौटे विवादास्पद नेता अमृतपाल सिंह कर रहे हैं. WPD की स्थापना पंजाबी अभिनेता दीप सिद्धू ने की थी. इस साल के शुरुआत में हरियाणा में एक सड़क दुर्घटना में मारे गए सिद्धू सांसद सिमरनजीत सिंह मान के समर्थक थे.