Jahagirpuri: हिंसा भूल भाईचारा बढ़ाने को दोनों समुदायों ने निकाली तिरंगा यात्रा, ‘भारत माता की जय’ के लगाए नारे

दिल्ली के जहांगीरपुरी में पिछले दिनों हिंसा हुई थी. जिसे हिन्दू-मुस्लिम दंगे के नाम से भी जाना जा रहा था. अब वहां भाईचारा कायम रखने के लिए तिरंगा यात्रा निकाली गई. यहां यह यात्रा दोनों समुदायों ने मिलकर निकाली. जहांगीरपुरी के कुशल चौक से शुरू हुई ये तिरंगा यात्रा आजाद चौक पर खत्म हुई. यात्रा में शामिल लोगों ने भारत माता की जय के नारे लगाए. साथ ही लोगों ने अपने घर की छतों से तिरंगा यात्रा पर फूल बरसाए.

नॉर्थ वेस्ट दिल्ली की डीसीपी  उषा रंगनानी ने बताया कि दो दिन पहले मीटिंग में दोनों समुदायों की तरफ से तिरंगा यात्रा निकालने की मंजूरी मांगी गई थी. यात्रा में दोनों समुदायों लोगों से सांप्रदायिक सौहार्द बनाए रखने की अपील की, इस दौरान सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे.

दूसरी ओर, ED ने जहांगीरपुरी हिंसा के मुख्य आरोपी अंसार शेख और अन्य संदिग्धों की संपत्तियों की जांच के लिए मनी लॉन्ड्रिंग का मामला भी दर्ज किया है. दरअसल, पुलिस के मुताबिक शेख को हिंसा के लिए विदेश से फंडिंग होने आशंका है. उसके पास पश्चिम बंगाल के हल्दिया में एक बड़ी हवेली भी है, जिसके बाद संपत्तियों की जांच की जा रही है.