रुसी सेना से बचने को खिड़की पर तिरंगा लगा रहे भारतीय छात्र, बोले – ‘अब यही है हमारा रक्षक’

यूक्रेन में हालत बिगड़ते जा रहे हैं. हजारों भारतीय छात्र अभी भी वहां फंसे हुए हैं. लेकिन इन सब के बीच रहत की एक खबर भी है. यूक्रेन के कीव शहर से कर्फ्यू हटते ही स्पेशल ट्रेन शुरू हो गई हैं. जिसके बाद वहां बंकरों में तीन दिन से फंसे स्टूडेंट बॉर्डर की ओर रवाना हुए हैं.

उधर रोमानिया बॉर्डर पर भी कुछ स्टूडेंट्स को खुले आसमान के नीचे दो दिन और रात बितानी पड़ी है. इस बीच कीव में कर्फ्यू हटने के बाद से यूक्रेन सरकार ने स्पेशल ट्रेन शुरू कर दिया है. वहीँ कीव से कुछ फोटोज सामने आ रही हैं. जिसमें स्टूडेंट्स अपने हॉस्टल की खिड़की के बाहर तिरंगा झंडा लगाते हुए दिखाई दे रहे हैं.

बता दें कि यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों ने रूसी सेना के अटैक से बचने के लिए ये न्य तरीका अपनाया है. स्टूडेंट्स अपने हॉस्टल के दरवाजे और खिड़की पर तिरंगा झंडा लगा रहे हैं, जिससे कि रुसी सेना उनपर अटैक न करे. एक ऐसी ही तस्वीर यूक्रेन के कीव से मेडिकल छात्रों ने अपने हॉस्टल से भेजी है. छात्रों का कहना है कि उन्हें पूरा भरोसा है कि इस बुरे वक्त में तिरंगा ही उनका एक मात्र रक्षक सिद्ध होगा.