EPFO: पांच करोड़ कर्मचारियों को बड़ा झटका, ईपीएफ पर ब्याज अब सिर्फ 8.1%

केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) की ब्याज दर 8.1 फीसदी करने की मंजूरी दे दी. यह पिछले चार दशक में सबसे कम ब्याज दर है. सरकार के फैसले से ईपीएफओ से जुड़े पांच करोड़ कर्मचारियों को झटका लगा है. पिछले वित्त वर्ष यानी 2020-21 में ब्याज दर 8.5 फीसदी थी. इस साल मार्च में ईपीएफओ ने इसे घटाकर 8.1 फीसदी करने का निर्णय लिया था.

श्रम मंत्रालय ने यह प्रस्ताव वित्त मंत्रालय को भेजा था, जिसे शुक्रवार काे केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी. अब ईपीएफओ वित्त वर्ष 2021-22 के लिए खातों में निश्चित ब्याज दर जमा करना शुरू करेगा. इससे पहले 8% ब्याजदर 1977-78 में रही थी.