CWG 2022: मणिपुर की बेटी ने देश को किया गौरवान्वित, कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत को दिलाया सिल्वर मेडल

इंडियन वेटलिफ्टर बिंदियारानी ने शनिवार को कॉमनवेल्थ गेम्स में महिलाओं के 55 किलोग्राम कैटेगरी में सिल्वर मेडल जीतकर देश का नाम रोशन किया. 23 वर्षीय बिंदियारानी ने बिंदियारानी देवी ने वूमेन्स वेटलिफ्टिंग के 55 किलो भारवर्ग में भारत के लिए सिल्वर मेडल जीत लिया. इसी के साथ कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत को यह चौथा मेडल हासिल हुआ है. इससे पहले मीराबाई चानू ने गोल्ड जीता था. वहीं संकेत महादेव और गुरुराजा पुजारी क्रमश: सिल्वर और ब्रॉन्ज मेडल जीतने में कामयाब रहे थे.

मीडिया से ज़ाहिर की अपनी ख़ुशी

ताइक्वांडो में ब्लैक बेल्ट रहीं बिंदियारानी ने मीडिया को बताया, “मुझे बहुत खुशी हो रही है कि मैंने कॉमनवेल्थ गेम्स में सिल्वर मेडल जीता है. कोचों ने भारत में संगठनों के साथ-साथ मेरी बहुत मदद की. मेरे कोचों ने बहुत काम किया है. मेरी तकनीक पर. वे मुझे जो भी सलाह देते हैं, मैं अपने कमरे में जाती थी और इसके बारे में सोचती थी, जो बाद में मेरी मदद करता है.” मणिपुर की बिंदियारानी देवी भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) के केंद्र में अपनी ट्रेनिंग करती हैं. लेकिन जब कोरोना महामारी की वजह से जब इस केंद्र को बंद कर दिया गया, तो बिंदियारानी ने स्टार भारोत्तोलक मीराबाई चानू की कोच रह चुकीं अनीता चानू के मार्गदर्शन में प्रशिक्षण लिया.

साउथ एशियन गेम्स में जीता स्वर्ण पदक

बिंदियारानी देवी ने मलेशिया के पेनांग में आयोजित 2016 विश्व युवा चैम्पियनशिप में इंटरनेशनल डेब्यू किया और 10वें स्थान पर रही थीं. 23 साल की बिंदियारानी देवी साल 2019 में हुए साउथ एशियन गेम्स में उन्होंने स्वर्ण पदक हासिल किया. साल 2019 में बिंदियारानी ने कॉमनवेल्थ चैम्पियनशिप का खिताब भी अपने नाम किया था.