Corona Virus: देश में बढ़ते कोरोना केस लोगों को फिर से याद दिला रहे बीते डरावने दिन… आज मिले डेढ़ लाख से ज्यादा मरीज

पिछले दिनों को याद करें तो एक समय में कोरोना दुनिया से इस क़दर खत्म होने को आ गया था कि जैसे यह आई गई बात हो गई. लोगों ने फिर से जिंदगी जीने का सपना देखना शुरू कर दिया था. लेकिन 2022 में एक बार फिर से कोरोना की बढ़ती रफ़्तार ने लोगों का सुकून छीन लिया है. देश में एक बार फिर से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं. बीते दिनों में बहुतों ने अपनों को खोया है. कब किसे क्या हो जाय, यह कोई नहीं जानता था. अब एक बार फिर से कोरोना लोगों को कैदी की ज़िन्दगी जीने को मजबूर कर रहा है.

पिछले 24 घंटों के दौरान भारत में कोरोना के 1 लाख 68 हजार 63 नए मामलों की पुष्टि हुई है. इस दौरान 69 हजार 959 लोग ठीक भी हुए हैं व 277 लोगों की मौत हुई है. वर्तमान में देश में 8 लाख 21 हजार 446 एक्टिव मरीज हैं. जिसके बाद पॉजिटिविटी रेट 10.64 प्रतिशत पहुंच गई है. एएनआई से प्राप्त जानकारी के अनुसार, ओमिक्रोन के 4461 मामलों की पुष्टि हुई है.

बता दें कि दिल्ली में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 19,166 नए मामले सामने आए, 14,076 रिकवरी हुई और कोरोना से 17 लोगों की मौत हुई. दिल्ली में Covid-19 संक्रमण दर बढ़कर (पॉजिटिविटी रेट) 25 प्रतिशत जबकि मृत्यु दर 1.60 प्रतिशत है. बीते 24 घंटे में दिल्ली में 19166 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए, ये आंकड़ा रविवार से कम है और इसकी वजह ये है कि कल की तुलना में 20008 टेस्ट कम किए गए, इसलिए 3585 केस कम दिख रहा है. जबकि पॉजिटिविटी रेट देखें तो रविवार से ज्यादा हैं. रविवार के हेल्थ बुलेटिन में पॉजिटिविटी रेट 23.53% था जो सोमवार को बढ़कर 25 प्रतिशत हो गया है.

ये भी पढ़ें: महान गायिका लता मंगेशकर हुईं कोरोना पॉजिटिव, आईसीयू में भर्ती

सुदर्शन न्यूज़ की खबर के अनुसार, दिल्ली सरकार ने कोरोना से जान गंवाने वालों की डेथ ऑडिट रिपोर्ट जारी की है. इसमें कई ऐसी चीजों पर गौर किया गया है जो इस संक्रमण के खतरे की जानकारी देता है. रिपोर्ट के मुताबिक, 5-9 जनवरी के बीच 46 लोगों की कोरोना से मौत हुई है. दिल्ली सरकार की रिपोर्ट बताती है कि इसमें से सिर्फ 11 लोगों को ही कोरोना का टीका लगा था. यानी 35 लोगों को कोरोना वैक्सीन नहीं लगी थी. इसके अलावा मरने वालों में ज्यादातर बुजुर्ग भी शामिल हैं. मरने वाले 46 लोगों में 25 लोगों की उम्र 60 साल से ज्यादा थी. बता दें, इस दौरान 28 पुरुष और 18 महिलाओं की कोरोना से मौत हुई है. साथ ही इसमें से 50 प्रतिशत यानी 23 लोगों की मौत कोरोना के तुरंत बाद हुई है. 

Leave a Reply

Your email address will not be published.