BHU: एक ओर कुलपति ने रखी इफ्तार पार्टी तो, दूसरी ओर दीवारों पर लिखा मिला “ब्राह्मण तेरी कब्र खुदेगी बीएचयू के धरती पे”

वाराणसी. काशी हिंदू विश्वविद्यालय में बुधवार को कुलपति प्रो सुधीर जैन द्वारा बुधवार को शिक्षक ,शिक्षिकाओं व छात्राओं के लिए महिला महाविद्यालय में रोज़ा इफ्तार पार्टी का आयोजन किया गया. जिसमे सभी ने रोजा खुल कर इफ्तारी की.

कुलपति सुधीर जैन ने कहा कि महिला महाविद्यालय के विकास व छात्राओं के लिए सुविधाएं बढ़ाने पर उनका व उनके प्रशासन का ख़ास ध्यान है और इस दिशा में कई सकारात्मक प्रयास किये गए हैं. उन्होंने छात्रावासों की संरक्षिकाओं से कहा कि वे छात्रावासों की आवश्यकताओं के बारे में ज़रूरी होमवर्क कर उन्हें अवगत कराएं तथा ये भी सुनिश्चित करें कि इसमें छात्राओं की सक्रिय व पूर्ण भागीदारी रहे. कुलपति जी को अपने बीच पाकर छात्राएं भी काफी उत्साहित दिखीं और उन्होंने कुलपति जी के साथ सेल्फी भी क्लिक की.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस रोजा इफ्तार पार्टी का आमंत्रण बीएचयू के के ऑफिशियल ईमेल से अध्यापकों एव छात्रों को आमंत्रित किया गया था.

इस आयोजन के बाद से छात्राओं मैं अक्रोषित माहौल देखने को मिला रहा है, बुधवार को रोजा इफ्तार पार्टी के बाद कुछ छात्रों मैं आक्रोश देखने को मिला , छात्रों ने कुलपति का पुतला हाथ में लेकर कुलपति आवास बाहर जाकर दहन किया . वही सोशल मीडिया साइट्स पर भी पूर्व और वर्तमान छात्र इसका विरोध करते नजर आ रहे है.

प्रदर्शन करने वाले छात्रों में आशीर्वाद दुबे ने कहा की पूर्व वीसी गिरीश चंद त्रिपाठी ने अपने कार्यकाल में नवरात्रि के समय फलाहार की परंपरा शुरू की थी. उस परंपरा को खत्म करके इफ्तार की नई परंपरा शुरू की जा रही है, जो कि अस्वीकार्य है। अगर कुलपति को को इफ्तार करना है तो वह एएमयू या जामिया जा सकते हैं यहां उनकी आवश्यकता नहीं है. छात्रों ने कहा कि काशी हिंदू विश्वविद्यालय में आज तक कभी भी इस तरह से इफ्तार पार्टी का आयोजन नहीं हुआ है. इस बार इस आयोजन के लिए महिला महाविद्यालय को चुना गया ताकि छात्र विरोध करने महिला महाविद्यालय में न जा सकें. यह एक गलत परंपरा डाली जा रही है जिसका छात्र विरोध करेंगे. आगे इस मुद्दे पर आंदोलन तय है.

वही गुरुवार की सुबह विश्विद्यालय के दीवारों पर “ब्राह्मण तेरी कब्र खुदेगी बीएचयू के धरती पे” और “कश्मीर तो झाकी हैं पूरा देश अभी बाकी है.”देखने को मिली जिससे सुबह से ही छात्रों मैं फिर से आक्रोश का माहौल बना हुआ हैं.